Type Here to Get Search Results !

नेटवर्क के प्रकार। types of network in hindi.

0

हेलो दोस्तों तो कैसे हैं, आप लोग। हमारे आर्टिकल पर आपका स्वागत है। दोस्तों अगर आप कंप्यूटर का उपयोग करते हैं, तो फिर आप कंप्यूटर नेटवर्क के बारे में जानते ही होंगे। आज के इस टेक्नोलॉजी के समय में किसी भी इंफॉर्मेशन या डाटा को एक जगह से दूसरी जगह पर शेयर करने का सबसे बड़ा माध्यम इंटरनेट है, क्योंकि इसकी सहायता से हम किसी भी जानकारी को आसानी से एकत्रित कर सकते हैं, तथा किसी भी व्यक्ति को जानकारी शेयर कर सकते हैं। और इसमें सबसे बड़ा योगदान नेटवर्क का है। क्योंकि बिना किसी नेटवर्क के हम कोई सी भी इंफॉर्मेशन को शेयर नहीं कर सकते हैं, और ना ही एक्सेस कर सकते हैं। 

हम आपको इस आर्टिकल में नेटवर्क क्या है, और नेटवर्क के कितने प्रकार होते हैं। इसी के बारे में बताने वाले हैं। तो चलिए बिना देर किए शुरू करते हैं।


नेटवर्क क्या है (what is network)-


जब एक या एक से अधिक कंप्यूटर को आपस में किसी माध्यम की सहायता से जोड़ा जाता है, तो एक नेटवर्क का निर्माण होता है। जिन्हे कंप्यूटर नेटवर्क कहा जाता है।  इन्हें हम wire और wireless दोनों तरीके से जोड़ सकते हैं। ज्यादातर नेटवर्क केबल का उपयोग किया जाता है। नेटवर्क केबल से जोड़ने के लिए स्विच, हब, राउटर और नेटवर्क एक्सेस पॉइंट जैसे उपकरणों का उपयोग किया जाता है।

अगर आप नेटवर्क क्या है, यह अच्छे से जानना चाहते हैं। तो हमने इसके ऊपर भी आर्टिकल लिखा है। हम आपको नीचे इसकी लिंक दे रहे हैं, जिस पर क्लिक करके आप नेटवर्क क्या है, और अच्छे से जान पाओगे।

नेटवर्क के प्रकार (types of network in hindi)-


नेटवर्क को उनकी क्षमताओं के आधार पर निम्न वर्गों में बांटा गया है।

(1) लोकल एरिया नेटवर्क: LAN ( Local Area Network)-

लोकल एरिया नेटवर्क यह एक ऐसा नेटवर्क है, जिसका उपयोग दो या दो से अधिक कंप्यूटर को आपस में जोड़ने के लिए किया जाता है। यह एक छोटे से क्षेत्र में फैला होता है। इस नेटवर्क का उपयोग घर, ऑफिस, स्कूल, कॉलेज आदि जगह पर किया जाता है। इसे ईथरनेट (Ethernet) कहते हैं। क्योंकि इसमें ईथरनेट और वाई-फाई तकनीक का उपयोग किया जाता है। यह एक ऐसा नेटवर्क है, जो आपको स्थानीय इलाकों में ज्यादा देखने को मिलेगा। इसमें एक मुख्य कंप्यूटर यानी server होता है। जहां पर संस्था से संबंधित डाटा रखा जाता है। और फिर इसे अन्य कंप्यूटर से जोड़ दिया जाता है।

Lan की विशेषता -

(•) इसकी स्पीड तेज होती है। इसलिए यह तेजी से काम करता है।

(•) इसमें कम खर्चा होता है।

(•) यह नेटवर्क प्रिंटर या फैक्स जैसे उपकरणों को साझा करने की अनुमति देता है।

(•) इसमें कई उपयोगकर्ता एक समय में डाटा या नेटवर्क तत्वों को साझा करने की अनुमति देता हैं।

(•) यह बड़े क्षेत्रों को कवर नहीं कर सकता है।

(•) उपयोगकर्ता की संख्या बढ़ने पर प्रदर्शन कम हो जाता है।

(•) इसमें वायरस और हैकिंग का खतरा अधिक होता है।


(2) मेट्रोपॉलिटन एरिया नेटवर्क: MAN (Metropolitan Area Network )-

दो या दो से अधिक लोकल एरिया नेटवर्क (LAN) को जोड़ने के लिए मेट्रोपॉलिटन एरिया नेटवर्क का उपयोग किया जाता है। यह एक पूरे शहर को जोड़ने वाला नेटवर्क होता है। यह कई किलोमीटर के क्षेत्र में फैला होता है। इसकी सहायता से 80 से 100 किलोमीटर की दूरी पर स्थित कंप्यूटर को भी डाटा भेजा जा सकता है। यह कई सारे राउटर, स्विच, और हब्स के द्वारा हाई स्पीड फाइबर ऑप्टिकल तारों से जुड़ा होता है। MAN नेटवर्क किसी एक संगठन के अधिकार में नहीं होता है। मेट्रोपॉलिटन एरिया नेटवर्क डाटा और ट्रांसमिशन का समर्थन करता है। MAN नेटवर्क का उपयोग बहुत सारे Lans को आपस में कनेक्ट करके बड़ा नेटवर्क बनाने के लिए किया जाता है।


Man की विशेषता -

(•) इसका रखरखाव करना कठिन होता है।

(•) इसकी गति तेज होती हैं।

(•) इस नेटवर्क को इंस्टॉल करने में ज्यादा खर्चा आता है।


(3) वाइड एरिया नेटवर्क: WAN (Wide Area Network)-

यह नेटवर्क क्षेत्रफल की दृष्टि से बहुत बड़ा होता है। यह नेटवर्क पूरे विश्व को जोड़ने का कार्य करता है। इस नेटवर्क को जोड़ने के लिए लिज्ड लाइन कनेक्शन का उपयोग किया जाता है। एक ऐसी टेलीफोन लाइन जो आपके कंप्यूटर को इंटरनेट सर्विस प्रोवाइडर के सर्वर से जोड़ती है, उसे लिज्ड/लीज लाइन कहते हैं। यह सबसे बड़ा नेटवर्क होता है, जिसमें डाटा सुरक्षित भेजा वह प्राप्त किया जाता है। WAN नेटवर्क में बहुत सारे LAN और MAN जुड़े रहते हैं। जिससे यह आपस में डाटा को शेयर करते रहते हैं। इस नेटवर्क की सहायता से हम दुनिया के किसी भी कंप्यूटर से कुछ पल में जुड़ सकते हैं। और इस नेटवर्क का सबसे अच्छा उदाहरण इंटरनेट है।


WAN की विशेषता -

(•) यह तार रहित नेटवर्क होता है।

(•) इसमें डाटा को Satelight के द्वारा भेजा और प्राप्त किया जाता है। 

(•) यह सबसे बड़ा नेटवर्क होता है। इसकी सहायता से हम पूरी दुनिया में डाटा ट्रांसफर कर सकते हैं।


(4) केन नेटवर्क : CAN (Campus Area Network)-

यह एक कंप्यूटर नेटवर्क है, जो एक सीमित क्षेत्र के भीतर दो या दो से अधिक LAN नेटवर्क से बना होता है। यह कई इमारतों को कवर कर सकता है। यह नेटवर्क LAN से बड़ा होता है, परंतु WAN से छोटा होता है। इन्हें आपस में जोड़ने के लिए वायरलेस प्रौद्योगिकी व तारों का उपयोग किया है।

दोस्तो यह थी types of network के बारे में जानकारी। मुझे उम्मीद है आपको हमारी जानकारी अच्छी लगी होगी। 


Conclusion -

हमने आपको नेटवर्क के प्रकार कितने होते है। और इनकी विशेषता के बारे में आपको पूरी जानकारी दी है। और network क्या है, इसकी जानकारी दी है। में आशा करता हूं आपकी हमारे द्वारा दी गई जानकारी पसंद आई होगी।

ओर यदि आपको हमारी पोस्ट Types Of Network हिंदी में अच्छी लगी हो, ओर आपको इससे कुछ सीखने का मिला हो तो हमे comments करके आप जरूर बताए। ओर इस पोस्ट को अपने दोस्तों के साथ whatsapp group , facebook ओर अन्य social networks site's पर शेयर करे और इस जानकारी को अन्य लोगो तक पहुचाने में हमारी मदद करे।

अभी के लिए बस इतना ही। कल फिर मिलते है, एक ओर नई जानकारी के साथ। हमारी इस पोस्ट को पढ़ने के लिए आपका धन्यवाद। आपका दिन शुभ हो।

Post a Comment

0 Comments

Link Buildings

Link Buildings
Read Now

SEO Tips

SEO Tips
Read Now

Social Media

Social Media
Read Now

Email Marketing

Email Marketing
Read Now

Checklist To-do

Checklist To-do
Read Now

YouTube Channel

YouTube Channel
Subscribe Now