हमारी new video देखे

Thursday, 26 August 2021

Tally क्या है।(what is tally in hindi) tally कैसे सीखें।

हेलो दोस्तों तो कैसे हैं, आप लोग। हमारे ब्लॉग पर आपका स्वागत है। दोस्तों अगर आप अकाउंटिंग से संबंधित काम करते हैं, तो फिर आपने tally के बारे में जरूर सुना होगा, या फिर आप किसी कंप्यूटर इंस्टिट्यूट में गए होंगे तो टैली कोर्स का नाम या इसके बारे में जरूर सुना ही होगा।

दोस्तों हमारे जीवन में account का काफी ज्यादा महत्व हो गया है। क्योंकि व्यवसाय में, रिकॉर्ड को तैयार करना, उसे मेंटेन रखने के लिए, सरकारी कामों के लिए यह काफी महत्वपूर्ण होते हैं। हमारा कोई सा भी अकाउंट का काम हो हम कंप्यूटर पर करते हैं। वह चाहे हमारे बिजनेस से रिलेटेड हो, या फिर किसी कंपनी से रिलेटेड हो, किसी भी व्यवसाय से रिलेटेड काम को अकाउंटिंग की सहायता से मेंटेन किया जाता है।

दोस्तों आज के समय में ज्यादातर अकाउंटिंग कार्यों के लिए टैली का उपयोग किया जाता है। अक्सर लोगों के मन में ख्याल आता है, क्या टैली सीखना चाहिए, इसे सीखने के क्या फायदे हैं, अगर आपके मन में भी यह सवाल आता है, तो आज हम आपको इस आर्टिकल में टैली क्या है, इसका उपयोग क्यों करें, तथा कहां पर किया जाता है, इसकी जानकारी देंगे। अगर आप भी टेली के बारे में जानना चाहते हैं, तो हमारे साथ आखिरी तक बने रहे। हम आपको टैली के बारे में पूरी जानकारी देंगे। तो चलिए बिना देर किए शुरू करते हैं।

Tally क्या है।(what is tally in hindi) -

Tally एक accounting software है। जो Tally Solutions pvt.ltd एक बहुराष्ट्रीय भारतीय कंपनी द्वारा निर्मित सॉफ्टवेयर है। जिसके द्वारा किसी भी व्यक्ति या कंपनी द्वारा किए गए कार्यों की लेनदेन की जानकारी एकत्रित करके रखी जाती है। इसमें पैसे की गणना करना, उसका व्यवस्थापन संरक्षित करना, वस्तु कहां से खरीदी गई, कितने में खरीदी, वस्तु कहां पर बेची गई, कितने में बेची तथा अकाउंट से संबंधित सभी कार्य tally की सहायता से किए जाते हैं। या हम यह कह सकते हैं, इन सभी कार्यों का रिकॉर्ड tally के अंदर रखा जाता है। Tally मैं जमा की गई राशि, निकाली गई राशि तथा खाते की संपूर्ण जानकारी के साथ-साथ खाते के पूरे डिस्क्रिप्शन की भी एंट्री की जाती है।

Accounting क्या है। इसमें tally का उपयोग कैसे करते है।-

अब आप सोच रहे होंगे अकाउंटिंग कार्यों में tally को उपयोग कैसे करते हैं, और अकाउंटिंग क्या है। तो मैं आपको बता दूं बैंको में या किसी भी बिजनेस में पैसे की लेनदेन के हिसाब रखने की प्रोसेस को अकाउंटिंग कहते हैं। तथा इस कार्य के लिए tally software का उपयोग किया जाता है। कंप्यूटर में जब अकाउंटिंग की बात की जाती है, तो सबसे पहले जिस सॉफ्टवेयर को याद किया जाता है, तो वह tally है। अकाउंटिंग के कार्यों में बहुत ही डिफिकल्ट गणना करना होती है, जो कंप्यूटर में सॉफ्टवेयर के बिना नहीं किया जा सकता है। इसलिए इन मुश्किल कैलकुलेशन के लिए tally का उपयोग किया जाता है। अगर हम साधारण शब्दों में कहे तो "tally एक ऐसा सॉफ्टवेयर है, जिसका उपयोग उपयोगकर्ता द्वारा खाते के हिसाब किताब रखने के लिए किया जाता है। जिसे Accounting कहते हैं।

Tally का full from in Hindi -

Tally का full from "Transactions Allowed In A Linear Line Yards" होता है। यह भारत में उपयोग होने वाला सबसे ज्यादा पॉपुलर अकाउंटिंग सॉफ्टवेयर है। इस टैली सॉफ्टवेयर का निर्माण Tally Solutions Pvt.Ltd कंपनी द्वारा किया गया है। जो एक मल्टीनैशनल कंपनी है। और इसका हेडक्वार्टर (Headquarter) बेंगलुरु में स्थित है।

Tally का इतिहास (history of tally in Hindi)-

दोस्तों अकाउंटिंग का कार्य तो बहुत पहले से ही चलता आ रहा है, लेकिन पहले अकाउंटिंग के कार्य को हाथों की सहायता से कागजों पर लिखकर किया जाता था। लेकिन अब इस समय अकाउंटिंग का कार्य करने के लिए हर जगह पर tally का उपयोग किया जाता है।

दोस्तों जैसा कि हमने आपको ऊपर बताया tally का आविष्कार भारत के बेंगलुरु शहर स्थित कंपनी में किया गया था। जिसे श्यामसुंदर गोयनका और उनके बेटे भरत गोयनका ने 1986 में मिलकर बनाया था। श्यामसुंदर गोयनका को टैली का जनक (father of tally) भी कहा जाता है। यह पहले एक टेक्सटाइल मिल में कच्चा माल सप्लाई करने का काम करते थे। उस समय उन्हें अपने बिजनेस को मैनेज करने में परेशानी होती थी। क्योंकि उस समय हिसाब किताब रखने के लिए कोई सॉफ्टवेयर उपलब्ध नहीं था। जिसकी सहायता से वह अपना हिसाब किताब आसानी से कर सकें। तब उन्होंने अपने बेटे के साथ मिलकर MS-DOS सॉफ्टवेयर को बनाया। जिसमें सिर्फ बेसिक अकाउंटिंग फंक्शन ही थे। बाद में इस सॉफ्टवेयर का नाम बदलकर tally रख दिया गया।

Tally के संस्करण (versions of tally in hindi) -

सबसे पहला संस्करण tally 4.5 था। जो MS-DOS पर आधारित था। जिसे 1990 के दशक में जारी किया गया था। इसके बाद आगे चलकर tally के और भी बहुत सारे version को लॉन्च किया गया। जो हिंदी, इंग्लिश, तमिल, गुजराती, तेलुगू , कन्नड़, मलयालम, मराठी और बहुत सारी भारतीय भाषाओं में उपस्थित हैं। Tally के संस्करण इस प्रकार है।


(•) Tally 4.5 - यह tally का पहला वर्जन था। यह MS-DOS सॉफ्टवेयर पर आधारित था। जिसे 1990 के दशक में जारी किया गया था।


(•) Tally 5.4 - यह tally का दूसरा वर्जन था। जो एक ग्राफिक इंटरफ़ेस वर्जन था। जिसे 1996 में जारी किया गया था।


(•) Tally 6.3 - यहां tally का तीसरा वर्जन था। जिसे 2001 में लॉन्च किया गया था। यह एक विंडो आधारित वर्जन था, जो Value Added Tax के साथ प्रिंटिंग को सपोर्ट करता था।

(•) Tally 7.2 - इसे 2005 में लॉन्च किया गया था। जिसे और अधिक डिजाइन तथा फीचर्स के साथ लॉन्च किया गया था। इसमें सबसे मुख्य फीचर VAT (Value Added Tax) था। जो भारतीय customer के लिए बहुत ज्यादा उपयोगी था।


(•) Tally 8.1 - इस वर्जन को एक नई डेटा संरचना के साथ विकसित किया गया था। इसे POS (प्लाइंट ऑफ सेल) और पैरोल की नई विशेषताओं के साथ जोड़ा गया था।


(•) Tally 9 - इसे 2006 में लॉन्च किया गया था। इस वर्जन में बहुत सारे features add थे। जैसे टीडीएस, एफबीटी, पैरोल ई-टीडीएस आदि।


(•) Tally ERP 9 - इसे 2009 में लॉन्च किया गया था। यह बिजनेस मैनेजमेंट सॉल्यूशन बेस पर आधारित था। यह छोटे से लेकर बड़े तक सभी उद्योगों के लिए ज्यादा सुविधाएं प्रदान कर रहा है।

2016 में GST Server और Text Payers के बीच में इंटरफ़ेस के रूप में GST सुविधा प्रदान करने के लिए Tally Solutions को चुना गया था। और 2017 में कंपनी ने एक नए अपडेट GST Compliance Software लॉन्च किया।

Tally कैसे सीखें -

दोस्तों अक्सर लोगों के मन में यह सवाल आता है, tally कहां से सीखे। और वह लोग कई बार इस बात को लेकर परेशान हो जाते हैं, tally को online course करके सीखे, या फिर offline course को ज्वाइन करके सीखें। अगर आप भी इस बात को लेकर परेशान रहते हैं, तो कोई बात नहीं दोस्तों आप tally को online course और offline course दोनों से सीख सकते हैं। बस आपके अंदर सीखने की इच्छा होना चाहिए। फिर उससे कोई भी फर्क नहीं पड़ता आप टैली कहां से सीख रहे हैं। अगर आप tally को ईमानदारी से सीखेंगे तो आप कहां से भी tally सीख जाओगे। और अगर सीखने में बेईमानी की तो यह दोनों cource भी कुछ नहीं कर पाएंगे।

तो दोस्तों अब आपको भी tally के बारे में पता चल गया है। यह क्या है, तथा इसका आविष्कार कैसे हुआ। दोस्तों मुझे उम्मीद है आपको हमारे द्वारा दी गई जानकारी अच्छी लगी होगी।

Conclusion -

आज इस पोस्ट में हमने आपको  Tally क्या है। तथा इसका उपयोग क्यों किया जाता है। इसके बारे में आपको पूरी जानकारी दी है। में आशा करता हु की आप लोगो को tally क्या है। इसके बारे में अच्छे से समझ आया होगा। अगर यदि आपको अभी भी इस पोस्ट को लेकर कुछ डाउट्स है। या हमारी इस पोस्ट में कुछ सुधार करने की जरूरत है या इस पोस्ट से जुड़ा कोई भी सवाल आपके मन मे है तो आप हमे नीचे comments करके जरूर बताये।

ओर यदि आपको हमारी पोस्ट Tally क्या है। हिंदी में अच्छी लगी हो ओर आपको इससे कुछ सीखने का मिला हो तो आप हमे comments करके जरूर बताए। ओर इस पोस्ट को अपने दोस्तों के साथ whatsapp group , facebook ओर अन्य social networks site's पर शेयर करे। और इस जानकारी को अन्य लोगो तक पहुचाने में हमारी मदद करे।

अभी के लिए बस इतना ही। हमारी इस पोस्ट को पढ़ने के लिए आपका धन्यवाद। आपका दिन शुभ हो।



No comments:

Post a Comment