हमारी new video देखे

Monday, 2 August 2021

Computer Network क्या है। यह कैसे काम करता है। in hindi.

हैलो दोस्तों तो कैसे हैं, आप लोग। क्या आपको पता है नेटवर्क क्या होता है। यह कैसे कार्य करता है इसके कितने  प्रकार होते हैं। अगर आपको नहीं पता है तो आज हम आपको इस पोस्ट में Computer Network के बारे में बताएंगे। अगर बात कई साल पहले या पुराने समय की की जाए तो उस समय लोग कोई भी इंफॉर्मेशन को एक स्थान से दूसरे स्थान तक पहुंचाने के लिए संदेश भेजने का कार्य करते थे। और तब जाकर वह आपस में इंफॉर्मेशन को शेयर कर पाते थे। लेकिन उस समय में भी संदेश भेजना इतना आसान नहीं था। क्योंकि उस समय में संदेश को एक स्थान से दूसरे स्थान तक पहुंचाने में कई दिन लग जाते थे। कभी-कभी तो संदेश समय पर भी नहीं पहुंच पाते थे। इसमें लोगों को बड़ी परेशानियां होती थी।

लेकिन आज के समय में किसी भी संदेश को एक स्थान से दूसरे स्थान तक पहुंचाने में ज्यादा समय नहीं लगता है। पल भर में एक स्थान से दूसरे स्थान तक information को साझा किया जा सकता है। कोई सी भी information को एक देश से दूसरे देश तक भेजा जा सकता है। और यह सब संभव हुआ है नेटवर्किंग के जरिए।

जिस प्रकार इंसान अपने बातों को एक-दूसरे से साझा करने के लिए आवाज का सहारा लेता है क्योंकि आवाज एक माध्यम होती है। उसी प्रकार कंप्यूटर भी एक दूसरे से अपनी बात साझा करने के लिए एक माध्यम का उपयोग करता है। जिसे नेटवर्क कहा जाता है। अगर आप भी नेटवर्क के बारे में जानना चाहते हैं तो हमारी इस पोस्ट को अंत तक पढ़ते रहिए जिससे आपको भी नेटवर्क के बारे में बहुत कुछ जानकारियां हो जाएगी। तो चलिए अब बिना देर किए शुरू करते हैं नेटवर्क किसे कहते हैं।

कंप्यूटर नेटवर्क क्या है। (what is Computer Network in hindi) -

computer network kise kahte hai
जब एक या एक से अधिक कंप्यूटर को आपस में किसी माध्यम की सहायता से जोड़ा जाता है तब इसे नेटवर्क कहा जाता है। इस दौरान यह आपस में एक दूसरे से संचार तथा डाटा आदान प्रदान करते हैं। आप इन्हें Wire या wireless तरीके से जोड़ सकते हैं। जैसे Wire medium मैं twisted pair cable, coaxial cable, ओर fiber optics cable में से कुछ भी हो सकते हैं। तथा wireless medium की बात करें तो इसमें Radio Wave, Bluetooth, infrared तथा Satellite में से  कुछ भी हो सकते हैं।
computer network kya hai
कंप्यूटिंग में एक नेटवर्क दो या दो से अधिक डिवाइसों का समूह होता है। जिसकी सहायता से हम कम्युनिकेशन कर सकते हैं। कंप्यूटर नेटवर्क एक साथ बहुत सारे computers, Servers, Network device का collection होता है। इसमें एक साथ सैकड़ों कंप्यूटर आपस में जुड़े रहते हैं। और इसमें डाटा का आदान प्रदान किया जाता है।

जब किसी नेटवर्क से डिवाइस को कनेक्ट किया जाता है तो इसे नेटवर्किंग करना कहते हैं। तथा नेटवर्क से जुड़े प्रत्येक डिवाइस को Node कहते हैं। और जो कंप्यूटर नेटवर्क के लिए संसाधन को मुहैया कराता है उसे Server कहा जाता है। नोड्स का मतलब होता है की यहां पर कंप्यूटर को नेटवर्क से जुड़ने के लिए एक माध्यम की आवश्यकता होती है और इस माध्यम में केबल, आर्बिटर, फाइबर केबल, वाई-फाई, ब्लूटूथ तथा सेटेलाइट आदि शामिल होते हैं। और इसमें नेटवर्क डिवाइस का इस्तेमाल भी किया जाता है।

नेटवर्क का सबसे अच्छा उदाहरण इंटरनेट है। जहां पर लाखों लोग आपस में जुड़े रहते हैं। और data share करते रहते हैं। दुनिया का सबसे बड़ा नेटवर्क इंटरनेट है। जहां पर हम रोज कुछ ना कुछ शेयर करते रहते हैं। नेटवर्क से जुड़े सभी कंप्यूटर को Node कहते हैं। और यहां data sharing के साथ-साथ Resource sharing जैसे Internet, printer, file serverbको शेयर कर सकते हैं। यहां पर Resource sharing का मतलब होता है जैसे हमारे मोबाइल में डाटा खत्म हो जाता है तो हम किसी से Hotspot या वाई-फाई से कनेक्ट करके हम mobile या computer पर काम करते हैं। और जब हम किसी online वाले के यहां पर जाते हैं तो वहां पर बहुत सारे कंप्यूटर नेटवर्क से जुड़े होते हैं। और वहां पर केवल एक या दो ही printer होते हैं। जब भी वहां पर कंप्यूटर की सहायता से कोई प्रिंट निकालता है तो केवल एक ही printer से प्रिंट निकलता है। तो यहां पर हम नेटवर्क की सहायता से Resource मतलब एक ही प्रिंटर को आपस में शेयर करते हैं। इसी को Resource Sharing कहते है।

कंप्यूटर नेटवर्क के प्रकार -(types of Computer Network in hindi) -

वैसे तो बहुत प्रकार के कंप्यूटर नेटवर्क है और सभी नेटवर्क की बनावट, क्षमता तथा उसकी कार्यशैली अलग-अलग होती है।
(●) Personal Area Network (PAN) -
इस नेटवर्क को PAN नेटवर्क भी कहा जाता है। यह एक निजी नेटवर्क का प्रकार होता है तथा यह छोटा सा नेटवर्क होता है। जो कि घर के अंदर तक ही इसकी सीमा रहती है। जब भी जब आप अपने दोस्तों के स्मार्टफोन से कोई फोटो ले रहे होते हैं तब आप PAN नेटवर्क का इस्तेमाल करते हैं। यह नेटवर्क ब्लूटूथ डिवाइस में ज्यादा इस्तेमाल होता है। PAN मैं एक या एक से अधिक कंप्यूटर रहते हैं। इसके साथ-साथ Telephone, Video, game तथा कुछ और डिवाइस भी जुड़े रहते हैं। इस नेटवर्क के दौरान एक व्यक्ति अपने घर या ऑफिस में अपने स्मार्टफोन, कंप्यूटर आदि को नियंत्रित करता है।

(●) Home Area Network (HAN) -
HAN भी एक प्रकार का निजी नेटवर्क होता है। लेकिन इसका दायरा एक व्यक्ति से निकलकर परिवार तक बढ़ जाता है। एक ही residence में कुछ लोग अगर एक ही नेटवर्क का इस्तेमाल कर रहे हैं तो उसे हम Home Area Network कह सकते हैं। इसमें आमतौर पर wire से internet connection होता है। जो कि एक modem से जुड़ा रहता है। यह modem दोनों connection wire और wireless provide करता है। इस नेटवर्क की सहायता से घर में उपलब्ध अन्य डिवाइस जैसे - printer, Tablet, Speakers, Laptops आदि को आपस में कनेक्ट किया जाता है। यह कनेक्शन केबल तथा बिना केबल हो सकता है। लेकिन इस प्रकार के नेटवर्क में वाई-फाई तकनीक का इस्तेमाल बेहतर रहता है। इस नेटवर्क में आप घर के किसी कोने में बैठकर document की प्रिंट निकाल सकते हैं। तथा photo को upload तथा download भी कर सकते हैं।
(●) Local Area Network (LAN) - 
इसका पूरा नाम Local Area Network होता है। यह एक ऐसा नेटवर्क उड़ता है जिसका उपयोग दो या दो से अधिक कंप्यूटर को जोड़ने के लिए किया जाता है। यह नेटवर्क आपको हर जगह पर देखने को मिलेगा। जैसे - ऑफिस, कॉलेज, स्कूल, बिजनेस आदि में। इसमें नेटवर्क में इथरनेट और वाई-फाई तकनीक का ज्यादा उपयोग किया जाता है। मगर इसमें केबल पर कम ध्यान दिया जाता है। यह एक ऐसा नेटवर्क है जो आपको स्थानीय इलाकों में ज्यादा देखने को मिलता है। इस नेटवर्क को बनाने के लिए ज्यादा Hardware की जरूरत नहीं पड़ती है। यह नेटवर्क कामकाज की जगह पर बनाया जाता है। इसमें एक मुख्य कंप्यूटर यानी server होता है जहां पर संस्था से संबंधित डाटा रखा जाता है। और अन्य कंप्यूटर से जोड़ दिया जाता है। इस कंप्यूटर की खासियत यह होती है कि इसकी स्पीड तेज होती है। इसमें कम खर्चा होता है तथा यह जगह सुरक्षित भी होते हैं।

विशेषता - 
■ इसमें बाहरी नेटवर्क को किराए पर नहीं लेना पड़ता है।
■ इसमें डाटा सुरक्षित रहता है।
■ यह एक कमरे या बिल्डिंग तक सुरक्षित रहता है।
■ इसमें डाटा को व्यवस्थित करना आसान होता है।

(●) Metropolitan Area Network (MAN) -
यह एक पूरे शहर को जोड़ने वाला नेटवर्क होता है। यह एक शहर में जितने भी collage, school, government office होते हैं सबको यह आपस में जोड़े रखता है। यह नेटवर्क एक या एक से ज्यादा PAN, LAN नेटवर्क से मिलकर बना होता है। तथा इसका दायरा सैकड़ो किलोमीटर तक होता है। बहुत सारे Lans को आपस में कनेक्ट करके बड़ा नेटवर्क बनाने के लिए इसका इस्तेमाल किया जाता है।

विशेषता -
■ इसका रखरखाव करना कठिन होता है।
■ इसकी गति बहुत तेज होती है।
■ इसकी ownership public और private होती है।
■ इस नेटवर्क को install करने में ज्यादा खर्चा आता है।

(●) Wide Area Network (WAN) -
LAN ओर MAN के बाद जो नेटवर्क होता है उसे WAN कहा जाता है। यह क्षेत्रफल की दृष्टि से बहुत बड़ा नेटवर्क होता है। यह नेटवर्क एक बिल्डिंग या एक शहर में सीमित न रहकर पूरे विश्व को जोड़ने का कार्य करता है। यह दुनिया का सबसे बड़ा नेटवर्क होता है। तथा इसका दायरा सबसे बड़ा होता है। इस नेटवर्क में डाटा को सुरक्षित भेजा वह प्राप्त किया जाता है। WAN नेटवर्क से बहुत सारे LAN और MAN जुड़े रहते हैं। और यह आपस में डाटा को शेयर करते रहते हैं। इस नेटवर्क की सहायता से आप दुनिया के किसी भी कंप्यूटर से कुछ पल में जुड़ सकते हैं। इस नेटवर्क की सबसे बड़ी खासियत यह होती है कि इसमें Data रेट कम होती है। लेकिन यह ज्यादा distance cover करता है। इसका सबसे अच्छा उदाहरण है इंटरनेट।

इस नेटवर्क में बहुत सारी तकनीक तथा protocol का उपयोग होता है। और इसको अन्य छोटे नेटवर्क से जोड़ने के लिए ISP5 की जरूरत पड़ती है। इसलिए यह नेटवर्क अन्य नेटवर्को की तुलना में बहुत महंगा होता है। WAN नेटवर्क भी दो तरह के होते हैं। Enterprise WAN ओर Global WAN । wide Area नेटवर्क से कनेक्ट होने वाले कंप्यूटर ज्यादा public Network का इस्तेमाल करते हैं।

विशेषता - 
■ दो देशों को इस नेटवर्क की सहायता से आपस में कनेक्ट किया जा सकता है।
■ इस नेटवर्क को install ओर maintenance करना कठिन होता है।
■ यह तार रहित मतलब wireless नेटवर्क होता है।
■ इसमें डाटा को संकेतों या satelight के द्वारा भेजा और प्राप्त किया जा सकता है।
■ यह नेटवर्क सबसे बड़ा नेटवर्क होता है।
■ इस नेटवर्क की सहायता से हम पूरी दुनिया में डाटा ट्रांसफर कर सकते हैं।

(●) Campus Area Network (CAN) -
इस नेटवर्क का इस्तेमाल शोछिक तथा सैन्य संस्थाओं में अधिक होता है। इसका दायरा संस्था विशेष तक ही सीमित रहता है। इसलिए इसे केंपस नेटवर्क कहते हैं। यह नेटवर्क कुछ हद तक लोकल एरिया का ही भाग होता है।

नेटवर्किंग में काम आने वाली डिवाइस -

डेस्कटॉप कंप्यूटर, लेपटॉप, मेनफ्रेम(main frames), सर्वर(server), फायरवॉल(firewalls), रिपीटर(Repeaters), ब्रिजस(Bridges), स्मार्टफोन(Smartphone),ओर टैबलेट (smartphone, and tablet), वेबकैम(webcame), Camera, Printers, Fats, Modem, Switches, Hubs, Routers आदि।

नेटवर्क का इतिहास (History of Network in hindi)-

आज हम जिस नेटवर्क की बात कर रहे हैं इसकी शुरुआत 1960 से 1970 में हुई थी। 1960 के दशक के दौरान पॉल बैरन एवं डोनाल्ड डेविस ने दो कंप्यूटर के बीच जानकारी साझा करने के उद्देश्य से पैकेट स्विचिंग की और कार्य प्रारंभ किया। जिसका उपयोग कंप्यूटर को नियंत्रित करने के लिए किया जाता था। 1960 में शुरुआत हुई इस नेटवर्क का नाम ARPANET जिसे (Advance Research Project Agency Network ) दिया गया था। शुरुआत में इस नेटवर्क का मकसद terminay और remote job entry station को mainframe के साथ जोड़ना था। ARPANET उस दौर में काफी भरोसेमंद था। क्योंकि वह circuit switching के बजाय PACKET Switching का इस्तेमाल करता था। 1969 में ARPANET के पहले चार नोड्स मुख्य विश्वविद्यालयों के बीच 50 kbit/s सर्किट के उपयोग से जुड़ चुके थे। इस तरह अर्पनेट के बढ़ते शोध तथा विकास ने सबसे मजबूत नेटवर्क इंटरनेट का निर्माण किया। आज यह दुनिया का सबसे बड़ा नेटवर्क बन चुका है। जिसे हम इंटरनेट करते हैं।

Conclusion -

आज इस पोस्ट में हमने आपको को Computer Network क्या है। तथा यह कैसे कार्य करता है। इसके बारे में आपको पूरी जानकारी दी है। में आशा करता हु की आप लोगो को Computer Network क्या है। इसके बारे में अच्छे से समझ आया होगा। अगर यदि आपको अभी भी इस पोस्ट को लेकर कुछ डाउट्स है हमारी पोस्ट से असन्तुष्ट है। या  हमारी इस पोस्ट में कुछ सुधार करने की जरूरत है या इस पोस्ट से जुड़ा कोई भी सवाल आपके मन मे है तो आप हमे नीचे comments करके जरूर बताये।

ओर यदि आपको हमारी पोस्ट Computer Network क्या है। हिंदी में अच्छी लगी हो ओर आपको इससे कुछ सीखने का मिला हो तो आप हमे comments करके जरूर बताए। ओर इस पोस्ट को अपने दोस्तों के साथ whatsapp group , facebook ओर अन्य social networks site's पर शेयर करे। और इस जानकारी को अन्य लोगो तक पहुचाने में हमारी मदद करे।

अभी के लिए बस इतना ही। हमारी इस पोस्ट को पढ़ने के लिए आपका धन्यवाद। आपका दिन शुभ हो।


No comments:

Post a Comment