Type Here to Get Search Results !

कंप्यूटर की विशेषता क्या है। (characteristics of computer) in hindi.

0

हेलो दोस्तों तो कैसे हैं, आप लोग। हमारे आर्टिकल  में आपका स्वागत है। दोस्तों आज के हमारे इस आर्टिकल में हम आपको कंप्यूटर की विशेषताओं के बारे में बताएंगे।

दोस्तों कंप्यूटर के बारे में सबको पता होता है। इसके बारे में हमे आपको बताने को कोई आवश्यकता नहीं है। आप सभी को कंप्यूटर के बारे में पता ही है। हम सब जानते हैं, कंप्यूटर अपनी विशेषताओं के कारण मानव जीवन का अभिन्न अंग बन गया है। हम सब आपने दैनिक जीवन में इसका उपयोग गेम खेलने, काम करने, ई-मेल भेजने, या फिर online या offline काम करने के लिए करते हैं। हर कोई व्यक्ति अपने हिसाब से कंप्यूटर का उपयोग करता है, और अपना काम करता है। जैसा कि हमें पता है, कंप्यूटर हमारे द्वारा दिए गए इनपुट डाटा की प्रोसेसिंग करता है, और फिर उसका परिणाम हमें आउटपुट के रूप में प्रदान करता है। दोस्तों कंप्यूटर की ऐसी बहुत सारी विशेषताएं हैं, जो उसे अलग बनाती है। 

आज हम आपको कंप्यूटर की कुछ ऐसी ही विशेषताओं के बारे में बताएंगे। अगर आप भी कंप्यूटर की विशेषताओं के बारे में जानना चाहते हैं, तो हमारे साथ अंत तक बने रहें। तो चलिए अब बिना देर किए शुरू करते हैं।

कंप्यूटर की विशेषता (characteristics/features of computer in hindi)-

(1) गति (speed)- दोस्तों जैसा कि अगर हमें एक जगह से दूसरी जगह पर जल्दी जाना होता है, तो हम गाड़ी, बस, कार का इस्तेमाल करते हैं। क्योंकि इन मशीन की सहायता से एक स्थान से दूसरे स्थान तक जल्दी पहुंचा जा सकता है। ठीक उसी प्रकार हम बड़ी से बड़ी कैलकुलेशन को करने के लिए कंप्यूटर का उपयोग करते हैं। कंप्यूटर किसी भी कार्य को बहुत तेजी से कर सकता है। कंप्यूटर के द्वारा हम जोड़, गुणा, भाग, और घटाना जैसे कैलकुलेशन को कुछ ही सेकंड में कर सकते हैं।


एक मनुष्य किसी भी जटिल कैलकुलेशन को करने के लिए कम से कम 1 घंटा तो जरूर लेता है। वही हम उस जटिल कैलकुलेशन को कंप्यूटर की सहायता से कुछ ही सेकंड में हल कर लेते हैं। इसलिए कंप्यूटर एक बहुत ही सुपर फास्ट मशीन है। और कंप्यूटर की सबसे बड़ी विशेषता इसकी स्पीड ही होती है। और यह गति (speed) उसे प्रोसेसर की सहायता से प्राप्त होती है। कंप्यूटर की गति को हार्टज में मापा जाता है, तथा कंप्यूटर के कार्य करने की गति या तीव्रता प्रति सेकेंड्स, प्रति मिली सेकेंड्स, प्रति माइक्रोसेकेंड्स तथा प्रति नैनोसेकेंड्स आदि में मापी जाती है। और कंप्यूटर किसी भी टास्क को बहुत जल्दी परफॉर्म करता है।


(2) Accuracy (सटीकता/शुद्धता)- एक्यूरेसी (accuracy) कंप्यूटर की दूसरी सबसे बड़ी विशेषता होती है। कंप्यूटर अपना सारा काम सटीकता से करता है। उसकी कोई सी भी कैलकुलेशन 100% सही होती है। कंप्यूटर द्वारा कभी कोई गलती नहीं की जाती है। कंप्यूटर द्वारा दिए गए परिणाम हमेशा सही होते हैं। और अगर कंप्यूटर द्वारा कोई गलती की जाती है, तो उसका सबसे बड़ा कारण हमारे द्वारा गलत Data Input करना होता है। क्योंकि कंप्यूटर हमारे द्वारा दिए जा रहे इनपुट डाटा को प्रोसेस करके परफॉर्म करता है। और फिर उसका परिणाम हमें आउटपुट के रूप में देता है। इसलिए हम कंप्यूटर को जैसा इनपुट डाटा देंगे वह वैसा ही परिणाम हमें देगा। इसलिए कंप्यूटर स्वयं कभी कोई गलती नहीं करता है।

(3) Versatility (विविधता/सार्वभौमिकता)-  हम सबको पता है, कंप्यूटर विभिन्न प्रकार के कार्य कर सकता है। आज के समय में आधुनिक कंप्यूटर में अलग-अलग कार्य एक साथ संपन्न किए जा सकते हैं। इसलिए कंप्यूटर गणितीय कार्यों को करने के साथ-साथ व्यवसायिक कार्यो में भी प्रयोग किए जाने लगते हैं। हम कंप्यूटर का उपयोग गणितीय कैलकुलेशन के लिए करते हैं, तो वहीं दूसरी और हम इसका उपयोग मनोरंजन के क्षेत्र में भी करते हैं। कंप्यूटर का उपयोग बैंक, बिजनेस, स्कूल, विज्ञान, हॉस्पिटल, एयरपोर्ट, सरकारी संगठनों आदि जगह पर किया जाता है।


(4) Storage Capacity (भण्डारण क्षमता) - कंप्यूटर मैं भंडारण करने की क्षमता बहुत अधिक होती है। हम इसमें बड़ी मात्रा में विभिन्न प्रकार के डाटा को स्टोर कर सकते हैं। कंप्यूटर बहुत सारे शब्दों को कम जगह में स्टोर करके रख सकता है। कंप्यूटर में हम photo, video, song's, program, documents, file, data आदि को कई वर्षों तक स्टोर कर सकते हैं। और यह सब डाटा स्टोर करने के लिए कंप्यूटर में हार्ड डिस्क, फ्लॉपी डिस्क, मैग्नेटिक टेप, सीडी रॉम आदि का उपयोग करते हैं।


(5) Automation (स्वचालन)- कंप्यूटर अपना पूरा कार्य स्वचालित (automatic) तरीके से करता है। यह किसी भी दिए गए कार्य को स्वचालित रूप से करने में सक्षम होता है। कंप्यूटर को एक बार निर्देश देने पर वह तब तक स्वचालित रूप से कार्य को बिना रुके करता रहता है, जब तक वह कार्य या निर्देश पूरा नहीं हो जाता है। मान लीजिए हमें किसी डॉक्यूमेंट की 100 प्रिंट निकालना है, तो एक बार कंप्यूटर को निर्देश दिए जाने के बाद वह तब तक कार्य करता रहता है, जब तक 100 प्रिंट ना निकल जाए। वह 100 प्रिंट निकालने तक अपना कार्य स्वतः करता रहता है। मतलब एक बार कंप्यूटर में प्रोग्राम लोड हो जाने पर वह स्वताः अपना कार्य करता रहता है। वह किसी भी कार्य के संचालन के लिए पूर्णत  कंप्यूटर पर निर्भर नहीं होता है।


(6) Reliability (विश्वसनीयता)- कंप्यूटर एक ऐसी मशीन है, जिसमें एक बार डाटा स्टोर करने पर वह वर्षों तक सही रहता है। यह एक भरोसेमंद मशीन होती है, जिस पर हम बहुत अधिक समय तक भरोसा कर सकते हैं। इसलिए कंप्यूटर से जुड़ी हुई संपूर्ण प्रक्रिया विश्वसनीय होती हैं। यह वर्षों तक कार्य करने करते रहने के बाद भी नहीं थकता है। वो भी बिना किसी गलती के। इसलिए आज बड़े बड़े संगठन, संस्थान और कंपनियां अपने कार्यों के लिए कंप्यूटर का उपयोग करती है।


(7) Diligence (कर्मठता)- आज हम किसी भी कार्य को निरंतर कुछ ही घंटों तक कर पाते हैं। इसके बाद हमें थकान, आलसी, और एकाग्रता की कमी महसूस होने लगती है। लेकिन कंप्यूटर किसी भी कार्य को कई घंटे, दिन, महीने तक करने की क्षमता रखता है। यह दिन के 24 घंटे तक बिना रुके और थके लगातार काम कर सकता है। इसका थकान से कोई लेना देना नहीं होता है। यह किसी भी कार्य को कई घंटों तक सटीकता के साथ करने में सक्षम होता है। यह किसी भी कार्य को बिना भेदभाव के करने में सक्षम होता है। इसलिए आज इंसान अपने कार्यों को करने के लिए कंप्यूटर का उपयोग करते हैं।


(8) Power of Rembembrance ( याद रखने की क्षमता)- जैसा कि हम सब जानते हैं, कंप्यूटर में हम विभिन्न प्रकार के डाटा को स्टोर कर सकते हैं। कंप्यूटर सभी बातें चाहे वह महत्वपूर्ण हो या ना हो सभी को मेमोरी के अंदर स्टोर करके रखता है। यह कई सालों तक डाटा को सुरक्षित संग्रहित करके रखता है, ताकि जरूरत पड़ने पर हम उस डाटा को दोबारा उसी रूप में प्राप्त कर सके, जैसा स्टोर किया गया था। इसलिए हम Remembrance power के कारण ही किसी भी डाटा को दोबारा प्राप्त कर सकते हैं।

(9) Quick Decision (तेज निर्णय लेने की क्षमता)- हमारे द्वारा दिए जा रहे निर्देशों पर कंप्यूटर तुरंत निर्णय लेता है। कंप्यूटर किसी भी निर्णय को लेने में इतना तेज होता है, कि जैसे ही हमारे द्वारा इसे कमांड दिया जाता है, यह कुछ ही नैनो सेकंड के भीतर उस पर अपनी प्रतिक्रिया देता है। यह परिस्थितियों का विश्लेषण पूर्व में दिए गए निर्देशों के आधार पर तीव्र निर्णय की क्षमता से करता है।


(10) Secrecy (गोपनीयता)- कंप्यूटर मैं आप अपने डाटा को दूसरे व्यक्ति से छुपाने के लिए या गोपनीय रखने के लिए पासवर्ड का उपयोग भी कर सकते हैं। आप कंप्यूटर में पासवर्ड लगा कर अपने डेटा को सुरक्षित कर सकते हैं ,जिससे कंप्यूटर में स्टोर डाटा को पासवर्ड जानने वाला ही एक्सेस कर सकता है।


(11) Agility (स्फूर्ति)- कंप्यूटर बिना रुके, बिना थके लगातार कार्य कर सकता है। यह स्फूर्ति के साथ लगातार अपना कार्य करता रहता है।


(12) Uniformity of work (एकरूपता)- एक ही कार्य को बार-बार तथा लगातार करते रहने से कंप्यूटर की गुणवत्ता पर कोई प्रभाव नहीं पड़ता है।


(13) Fast Retrieval (सूचना तीव्र गति से प्राप्त करना)- कंप्यूटर मैं हम बहुत बड़ी मात्रा में डाटा को स्टोर कर सकते हैं। इसलिए कभी-कभी इतनी सारी जानकारी में से हमें किसी एक सूचना को ढूंढना कठिन लगता है। लेकिन हम कंप्यूटर की सहायता से स्टोर की गई सूचनाओं में से आवश्यकता अनुसार सूचना को प्राप्त कर सकते हैं।


(14) Permanent Storage (स्थाई भंडारण क्षमता)- कंप्यूटर मैं डाटा और निर्देशों को स्थाई रूप से संग्रहण करने के लिए मेमोरी का उपयोग किया जाता है। क्योंकि कंप्यूटर में सूचनाएं तथा डाटा इलेक्ट्रॉनिक तरीके से संग्रहित किया जाता है। इसलिए इसमें सूचना या डाटा के डिलीट होने का खतरा बहुत कम होता है।

तो दोस्तों यह थी कंप्यूटर की कुछ विशेषताएं जो इसे सबसे अलग बनाती है दोस्तों हमें उम्मीद है आपको हमारे द्वारा दी गई जानकारी पसंद आई होगी।

Conclusion -

आज इस पोस्ट में हमने आपको कंप्यूटर की कोन-कोन सी विशेषता होती है। इसके बारे में जानकारी दी हैं। यदि आपको अभी भी इस पोस्ट को लेकर कुछ डाउट्स है, या हमारी इस पोस्ट में कुछ सुधार करने की जरूरत है या इस पोस्ट से जुड़ा कोई भी सवाल आपके मन मे है तो आप हमे नीचे comments करके जरूर बताये।

ओर यदि आपको हमारी पोस्ट कंप्यूटर की क्या विशेषता है। हिंदी में अच्छी लगी हो ओर आपको इससे कुछ सीखने का मिला हो तो आप इस पोस्ट को अपने दोस्तों के साथ what's app group, facebook ओर अन्य social networks site's पर शेयर करे। और इस जानकारी को अन्य लोगो तक पहुचाने में हमारी मदद करे।

अभी के लिए बस इतना ही। हमारी इस पोस्ट को पढ़ने के लिए आपका धन्यवाद। आपका दिन शुभ हो।

Post a Comment

0 Comments

Link Buildings

Link Buildings
Read Now

SEO Tips

SEO Tips
Read Now

Social Media

Social Media
Read Now

Email Marketing

Email Marketing
Read Now

Checklist To-do

Checklist To-do
Read Now

YouTube Channel

YouTube Channel
Subscribe Now