हमारी new video देखे

Friday, 10 July 2020

Web Server किसे कहते है। यह कितने प्रकार के होते है।

हैलो दोस्तो तो कैसे है, आप लोग। हमारे blog पर आपका स्वागत है। दोस्तो वेब सर्वर(web server) क्या है। आपने कभी ना कभी तो सुना ही होगा। अगर आप एक स्टूडेंट है तो फिर आपने बहुत बार सुना ही होगा। आपने अक्सर देखा होगा जब आप competitive exam का फॉर्म भरने जाते हैं। तो उसकी वेबसाइट कभी-कभी काम करना बंद कर देती है। उस वेबसाइट पर इतना ज्यादा लोड आ जाता है कि वह ओपन ही नहीं हो पाती हैं। और हमें online फॉर्म भरने वाला कहता है कि सर्वर fail है। या अभी आपका फॉर्म नहीं डाल सकता क्योंकि सर्वर काम नहीं कर रहा है। ऐसा इसलिए होता है कि इस वेबसाइट पर लाखों लोग एक साथ फॉर्म भरने आ जाते हैं। जिससे सर्वर पर लोड पड़ता है और वह काम करना बंद कर देता है। 

आपने ऐसा अक्सर देखा होगा जब कोई सी govermant की जॉब निकलती है। तब देखा ही होगा कि उसका सर्वर fail हो जाता है। क्योंकि आज के इस बेरोजगारी के समय में बहुत सारे लोगों की इच्छा होती है उसके पास भी हो govt job हो इसलिए उस job के लिए बहुत सारे आवेदन एक साथ आ जाते हैं। और सर्वर fail हो जाता है। वेबसाइट के सर्वर पर जहां वेबसाइट का डाटा स्टोर रहता है। वहां पर ज्यादा लोड पढ़ने से वह साइट नहीं खुल पाती है। आपने अगर ध्यान दिया है तो अक्सर बैंक में भी यह कहते है कि आज money transfer नहीं हो पाएगा। क्यू की सर्वर fail है। आपने कभी सोचा है। हम जितने भी Data या इंफॉर्मेशन इंटरनेट के जरिए ढूंढते हैं तो उनकी हमें सभी जानकारी कहां से मिलती है।
आज के समय में इंटरनेट एक ऐसा माध्यम है जिसकी वजह से हमें चारों और जानकारियां ही जानकारियां दिखाई देगी। क्या आपने कभी सोचा है यह जानकारियां हम तक पहुँचाहने का काम कौन कर रहा है। यह काम हम इंसानों के द्वारा तो नहीं किया जाता। इसलिए यह काम मशीन की सहायता से किया जाता है। जिसमें सर्वर का प्रोग्राम लोड किया गया होता है। अगर आपको भी सर्वर के बारे में ज्यादा कुछ जानकारी नहीं है। और आप सर्वर बारे में जानना चाहते हैं तो हमारी इस पोस्ट का अंत तक पढ़ते रहिए। इस पोस्ट मैं हम आज आपको web-server की पूरी जानकारी देंगे। यह क्या है। और कितने प्रकार के होते हैं। तो चलिए अब बिना देर किए शुरू करते हैं सर्वर क्या है।

वेबसर्वर क्या है। (What is web server in hindi) -

web server kise kahte hai
वेब सर्वर एक तरह से कंप्यूटर ही होता है। यह एक ऐसी तकनीक का प्रोग्राम होता है जो वेबपेज और वेबसाइट को उपलब्ध कराने में लोगों की मदद करता है। 
web server kya hai
यह दूसरे कंप्यूटर और उपयोगकर्ता को सेवा प्रदान करता है। यह हमें webpage और website से कनेक्ट करने का कार्य करता है। अर्थात वह सॉफ्टवेयर जो वेबपेज को यूजर तक पहुंचाने का कार्य करता है उसे वेब सर्वर कहा जाता है। हम इंटरनेट पर जब भी कभी कुछ सर्च करते हैं तो वेब सर्वर उस वस्तु या चीज का इंफॉर्मेशन हमें प्रस्तुत करता है। मतलब वेब सर्वर एक ऐसा कंप्यूटर प्रोग्राम होता है जिसे कंप्यूटर में लोड किया जाता है। ताकि वह दूसरे कंप्यूटर को इंफॉर्मेशन और डाटा भेज सकें। वेब सर्वर में HTTP होता है। जो किसी वेब सर्वर को डाटा सर्च करने में मदद करता है। HTTP Protocol के द्वारा वेबपेज यूजर तक पहुंचाये जाते हैं। यह फाइल को कंट्रोल और मैनेज तथा फाइल को जल्दी से जल्दी transfer करने का कार्य करता है। सर्वर का काम ही इंटरनेट से यूजर को उसके द्वारा सर्च की गई जानकारी देना होता है। यूजर इंटरनेट पर जितने भी वेबपेज देखता है वह उनके कंप्यूटर पर किसी ना किसी वेब सर्वर के द्वारा ही पहुंचाये जाते हैं। जिस तरह हम अपने web browser google में जाकर कुछ भी इंफॉर्मेशन सर्च करते हैं तो हमें अपने डिवाइस पर जो भी रिजल्ट देखने को मिलते हैं तो वह वेबसाइट का डाटा कहीं ना कहीं तो सेव होता ही होगा। जो सर्वर हमारे request भेजने पर हमें प्रदान करता है।

Google दुनिया का सबसे बड़ा सर्च इंजन है। जहां से हम जितनी चाहे उतनी इंफॉर्मेशन हासिल कर सकते हैं। क्योंकि Google हमें सभी डाटा की इंफॉर्मेशन अलग-अलग वेबसाइट के सर्वर से लाकर देता है। सर्वर भी एक कंप्यूटर की तरह ही होता है।

दुनिया में बहुत सारे सर्वर मौजूद है जो अलग-अलग क्षमताओं के होते हैं। जैसे अगर हम एक Normal computer या leptop में server का program install कर देते है तो वह कंप्यूटर और लैपटॉप भी एक सर्वर ही तरह काम करेगा। इस तरह के सर्वर को हम Non-dedicated servers भी कहते हैं। क्योंकि यह 24 घंटे on रहकर अपना कार्य करने के लिए नहीं होते हैं। इनका उपयोग अधिकतर Home, Collage, Office, School, ओर Hospitales आदि जगहों पर उपयोग किये जाते है। जिन्हें हम local network भी कहते हैं। लेकिन कुछ कंप्यूटर ऐसे भी होते हैं जो 24 घंटे चालू रहकर अपना काम करते रहते हैं। ऐसे सर्वर को dedicated server कहते हैं। यह कंप्यूटर बहुत महंगे होते हैं। और इनमें high-quality और high-speed का processor और RAM लगे होते हैं। हम इंटरनेट पर जो भी सर्च करते हैं उसके परिणाम हमें dedicated सर्वर के द्वारा ही मिलते हैं। मतलब एक कंप्यूटर जो वेबपेज को भेजता है वेब सर्वर कहलाता है। प्रत्येक वेब सर्वर का एक ip address होता है और एक domain name होता है। उदाहरण के लिए जब आप अपने ब्राउज़र में http://www.pcwali.com/index. html नाम का URL इंटर करेंगे तो यह सर्वर को रिक्वेस्ट भेजता है जिसका डोमेन नेम pcwali.com है। तब सर्वर index.html नाम के page को ढूंढ कर निकालता है। तथा आपके ब्राउज़र को भेज देता है। कोई भी कंप्यूटर वेब सर्वर में परिवर्तित हो जाता है। बस हमारे कंप्यूटर में सर्वर सॉफ्टवेयर इंस्टॉल हो और वह इंटरनेट से कनेक्ट हो।

वेब सर्वर के प्रकार (Types of web server in hindi) -

इंटरनेट पर बहुत सारे प्रकार के सर्वर मौजूद है। किसी नेटवर्क में सर्वर एक ऐसा डिवाइस या कंप्यूटर होता है जो Network resources को supervise करने का कार्य करता है। सब सर्वर अलग-अलग प्रकार के होते हैं और अलग-अलग सेवाएं प्रदान करते हैं।

(●) Web Server - वेब सर्वर में इंटरनेट पर बहुत सारी links या वेबसाइट attach रहती है। और सर्वर भी किसी ना किसी तरीके से वेब ब्राउज़र के साथ link रहता है। इंटरनेट पर जितने भी वेबसाइट मौजूद है उन सब के डाटा वेब सर्वर में स्टोर रहते हैं। जब भी कोई यूजर किसी प्रकार की वेबसाइट को देखना या एक्सेस करना चाहता है तो वह  request send करता है। तब यह ब्राउज़र वेब सर्वर से connect कर वेबसाइट का डाटा यूजर के डिवाइस पर भेज देते हैं। और वेबसाइट का डाटा http के माध्यम से यूजर के सामने open हो जाता है।
(●) Email Server - Massage को भेजने और उसे रिसीव करने का कार्य Email Server की सहायता से किया जाता है। Email Server मैं यूजर के Account की सारी details ओर massage को स्टोर करके रखते हैं। अगर आप अपने दोस्तों को मैसेज लिखने के बाद उसे सेंड कर रहे हैं तो सेंड बटन पर क्लिक करते हैं। उस मैसेज को mail server SMTP Protocol का उपयोग करके आपके दोस्त के account पर भेज देते हैं।

(●) Application Servers - एप्लीकेशन सर्वर बहुत ज्यादा मात्रा की computing territory को data base servers और end user के बीच रखता है। और जिन्हें regularly एक साथ bond किया जाता है। एक Middleware Software के उपयोग से दो dissimilar applications को एक साथ connect किया जा सकता है। इससे यूजर डाटा रिक्वेस्ट कर सकता है। डेटाबेस से जिसके लिए उन्हें वेब ब्राउज़र का from इस्तेमाल करना होता है। जो कि displayed होते हैं। इससे वेब सर्वर यूजर के requirements और protile के अनुसार आसानी से dynamic web pages तक जा सकती है। middleware एक application के दो sides को attch करता है। और उसके भीतर डाटा को pass कराता है। इसलिए यह एक plumbing agent का कार्य करता है।

(●) File Servers - File Server Network की मदद से file को एक स्थान से दूसरे स्थान तक ट्रांसफर करने का काम करता है। यह एक कंप्यूटर में सभी फाइल को स्टोर और मैनेज करने का कार्य करता है। file server का उपयोग local network पर होता है। जिस तरह हमारे कंप्यूटर में file store रहती है और हम उसे जब चाहे ओपन कर सकते हैं।

(●) Audio/Video servers - इस सर्वर की मदद से हम कभी भी ब्राउज़र से audio, video या multimedia contents को सर्च करके उनका आनंद उठा सकते हैं। audio/video server की मदद से ही multimedia मैं वह ability आती है जिससे streaming multimedia contents को वेबसाइट में broad cast कर सके। multimedia streaming एक ऐसी technique होती है जहां पर डाटा ट्रांसफर किया जाता है।

(●) Chet Servers - Chet Server एक ऐसा सर्वर होता है जहां पर हम अपनो से दूर बैठे होने पर भी उनसे chet कर सकते हैं। उनके साथ online chet यानी इंफॉर्मेशन की मदद से बातें कर सकते हैं। चाहे हम दुनिया के किसी भी कोने में क्यों ना हो chet सर्वर की सहायता से हम उनसे जुड़ सकते हैं। जैसे facebook, what's app, twitter आदि।

(●) Fax Server - फैक्स सर्वर की मदद से हम incomming और outgoing डाटा और इंफॉर्मेशन को एक स्थान से दूसरे स्थान पर भेज सकते हैं। इसमें समय और पैसे दोनों की बचत होती है। fax server का उपयोग अधिकतर वहां किया जाता है जहां पर समय ही बहुत कीमती होता है।

(●) FTP Server - यह एक फाइल ट्रांसफर प्रोटोकोल है यह बहुत ही पुराना internet server है। यह हमारे द्वारा भेजी गई फाइल को एक स्थान से दूसरे स्थान तक भेजने में सर्वर की मदद करता है। यह फाइल को मैनेज और कंट्रोल करने का कार्य करता है।

(●) IRC Server - IRC Servers का इस्तेमाल real time abilities को पाने के लिए होता है। IRC का पुरा नाम internet relay chat है। इसमें बहुत से spit networks और servers स्थित है। जो यूजर को एक दूसरे के साथ attach होने के लिए pormit करते हैं। IRC Network के माध्यम से। यह दो यूजर के बीच communication का माहौल बनाता है।

(●) Group Web Server - इस सर्वर की मदद से लोगों को कनेक्ट करके एक ही environment या जगह में रहकर होकर कम्युनिकेशन कर सकते हैं। इसके लिए इंटरनेट या mutual internet का उपयोग किया जाता है।

(●) List Server - यह एक बहुत ही बढ़िया सर्वर है। इसकी सहायता से हम mailing को कंट्रोल और मैनेज करते हैं। यह list servers interactive discussions होते हैं। जोकि community के लिए ओपन होते हैं।

(●) Mail Servers - mail server का कार्य को mail को store करना होता है। यह
local area network की सहायता से email को Natural network में स्टोर कर सकते हैं।

(●) News Server -  News Server का इस्तेमाल News को share और deliver करने के लिए किया जाता है। इसके लिए USENET News Network का उपयोग किया जाता है।

(●) Proxy Server - proxy server का उपयोग इंटरनेट से संबंधित requirement को filter करने के लिए किया जाता है।

(●) Telnet Servers - इस सर्वर का उपयोग तब किया जाता है जब हम अपने कंप्यूटर को log in कर के काम करते हैं।

सर्वर (server) किस तरह से अपना काम करता है। -

server kese kam krta hai
जब भी हम किसी application या document file को वेबसाइट पर देखने के लिए रिक्वेस्ट करते हैं तो यह वेब सर्वर पर रिक्वेस्ट की गई फाइल कहीं ना कहीं तो स्टोर होती है। और उस पर क्लिक करते ही हमारे सामने वह फाइल ओपन हो जाएगी। उदाहरण के लिए हमें यूट्यूब पर एक वीडियो देखना है तो हम सबसे पहले यूट्यूब के सर्च बॉक्स को open करेंगे। और वहां पर जो वीडियो हमें देखना है उसका नाम लिखेंगे। और फिर हम उसे सर्च करेंगे। तब यह पूरी प्रोसेस एक रिक्वेस्ट के रूप में उत्पन्न हो जाती है। और यह रिक्वेस्ट यूट्यूब के सर्वर के पास पहुंच जाती है। और वह सर्वर उसके डाटा में उस वीडियो को सर्च करने का काम करता है। जिससे आपको द्वारा सर्च किया गया हो। जैसे ही वह वीडियो सर्वर को मिल जाती है वह आपके डिवाइस पर उस वीडियो को भेज देता है। और फिर आप उस वीडियो को देख पाते हैं।

कभी-कभी इंटरनेट पर भी सर्वर  भी fail हो जाते हैं। या server error  हो जाते है। इसका मुख्य कारण यह होता है कि या तो सर्वर कुछ समय के लिए बंद कर दिया जाता है या बहुत सारे लोगों द्वारा एक ही चीज को सर्च किया जाता है। आपने अक्सर देखा होगा हम कभी भी बैंक में पैसा जमा करवाने जाते हैं। या कॉन्पिटिशन एग्जाम के फॉर्म डालते हैं तो कुछ समस्याएं जैसे server not available, server not found, server error found  जैसी समस्या उत्पन्न होती है। जो कि हमें server नॉट connecting का निर्देश देती है।
इंटरनेट पर हम जितने भी काम करते हैं। जैसे कोई file download करना, video देखना, mail भेजना, social networking site का इस्तेमाल करना आदि। इसके अलावा भी हम जितने काम करते हैं उन सभी कामों में हम तक डाटा पहुचाने के लिए सर्वर हमारी मदद करता है।

वेब सर्वर की विशेषता (characteristics of web server in hindi) -

(●) वेब सर्वर का मुख्य कार्य Website Hosting को कंट्रोल करना और उसे मैनेज करना होता है।

(●) जब भी हम किसी वेबसाइट को ओपन करते हैं और अगर उसमें कुछ भी समस्या होती है जैसे server not found, server error found आदि। सर्वर इन समस्याओं को हमें show दिखाता है।

(●) यह वेब सर्वर FTP बनाता है। जिससे कोई भी फाइल को uplaod ओर download कर सकते हैं।

(●) वेब सर्वर defoult document ओर undefoult document का निर्धारण करता है।

(●) वेब सर्वर एक IP Address के निर्माण द्वारा कई वेबसाइट को सर्व करता है।

(●) यह HTTPS मैं सामान्य पोर्ट 80 के स्थान स्टैंडर्ड पोर्ट 443 पर सुरक्षित कनेक्शन की परमिशन को सपोर्ट करता है। (●)एक या एक से अधिक रिलेटेड इंटरफेस के सपोर्ट static contents तथा dynamic contents की हैंडलिंग करता है।

(●) यह रेस्पॉन्स के साइज को घटाता है।

(●) यह 32 बिट OS पर 2GB से अधिक आकार वाली फाइल्स को सर्व करने योग्य बनाता है।

(●) वेब सर्वर रेस्पॉन्स की स्पीड को सीमित करता है ताकि नेटवर्क संतृप्त ना हो और अधिक क्लाइंट को सर्व करने में सक्षम रहे।

Conclusion -

आज इस पोस्ट में हमने आपको web server किसे कहते है। तथा यह कितने प्रकार के होते  है। इसके बारे में आपको पूरी जानकारी दी है। में आशा करता हु की आप लोगो को web server किसे कहते है। इसके बारे में अच्छे से समझ आया होगा। अगर यदि आपको अभी भी इस पोस्ट को लेकर कुछ डाउट्स है या आप हमारी इस पोस्ट से असंतुष्ट है। या फिर हमारी इस पोस्ट में कुछ सुधार करने की जरूरत है या इस पोस्ट से जुड़ा कोई भी सवाल आपके मन मे है तो आप हमे नीचे comments करके जरूर बताये।

ओर यदि आपको हमारी पोस्ट web server किसे कहते है। हिंदी में अच्छी लगी हो ओर आपको इससे कुछ सीखने का मिला हो तो हमे comments करके आप जरूर बताए।ओर इस पोस्ट को अपने दोस्तों के साथ whatsapp group , facebook ओर अन्य social media site's पर शेयर करे। और इस जानकारी को अन्य लोगो तक पहुचाने में हमारी मदद करे।

अभी के लिए बस इतना ही। हमारी इस पोस्ट को पढ़ने के लिए आपका धन्यवाद। आपका दिन शुभ हो।



No comments:

Post a Comment