हमारी new video देखे

Saturday, 30 May 2020

Search Engine क्या है। यह कैसे काम करता है। in hindi

हेलो दोस्तों तो कैसे है, आप लोग। क्या आपको पता है सर्च इंजन क्या है। यह कैसे काम करता है। दोस्तो इंटरनेट सूचनाओं का अथाह सागर है। जब से इंटरनेट का जन्म हुआ है तब से लेकर अब तक हम इंटरनेट पर कुछ ना कुछ सर्च करते रहते है। हम इंटरनेट पर कुछ भी सर्च करे तो हमारे सवालों का जवाब हमें मिल जाएगा। जिस भी किसी की इंफॉर्मेशन चाहिए होती है हमें बस एक सर्च करने से चंद सेकेंड में हमें उसकी सारी इंफॉर्मेशन मिल जाती हैं। लेकिन हम यह भी कह सकते हैं कि बिना इंटरनेट के सर्च इंजन कुछ भी नहीं है और यह भी है कि अगर सर्च इंजन ही नहीं होगा तो हमें इंफॉर्मेशन कहां से मिलेगी।

जब भी हमें किसी भी जानकारी की इंफॉर्मेशन चाहिए होती है तब हम केवल अपने कंप्यूटर या मोबाइल पर सर्च करके उसकी सारी जानकारी प्राप्त कर सकते हैं। क्या आपने कभी सोचा है हमें जिस भी वस्तु की जानकारी चाहिए होती है वह जानकारी हमारे लिए कौन खोज रहा है। तो में आपको बता दु की यह जानकारी हमारे लिए सर्च इंजन खोज रहा है। सर्च इंजन ही वह माध्यम में जो web पर हमारे लिए जानकारी खोजने का काम करता है।
अगर हम 1990 के आसपास की बात करें तो उस समय ऐसा कोई कॉन्सेप्ट नहीं था जो हमारे सर्च करने पर उसकी जानकारी उपलब्ध कराएं। उस समय में तो इंटरनेट ही नहीं था तो फिर किसी भी जानकारी की इंफॉर्मेशन मिल पाना कितना मुश्किल था। इंटरनेट पर ऐसी लाखो वेबसाइटें मौजूद थे जो हमारे लिए जानकारी उपलब्ध कराने का काम करती है। अगर सर्च इंजन नहीं होता तो आप कल्पना करें हमें किसी भी वस्तु या चीज की इंफॉर्मेशन कहां से मिलती। कहाँ से हम उसकी पूरी जानकारी हासिल कर पाते। बिना सर्च इंजन के हमें कोई भी इंफॉर्मेशन मिलने का सवाल ही नहीं है। search engine ने आज लोगों का काम बहुत आसान बना दिया है। आज हम इस पोस्ट में सर्च इंजन क्या है। यह कितने प्रकार के होते हैं। तथा कैसे कार्य करते हैं। इसके बारे में जानेंगे। अगर आप भी सर्च इंजन के बारे में जानने के इच्छुक हैं तो आप हमारी इस पोस्ट को अंत तक पढ़ते रहिए। तो चलिए अब बिना देर किए शुरू करते सर्च इंजन क्या है

 सर्च इंजन क्या है।(What is Search Engine in hindi) -

सर्च इंजन एक प्रोग्राम या सॉफ्टवेयर है। या सर्च इंजन एक ऐसा प्रोग्राम है जो इंटरनेट पर यूजर द्वारा सर्च किए गए सवालों को वर्ल्ड वाइड वेब (WWW) पर खोजने का कार्य करता है। मतलब सर्च इंजन इंटरनेट पर उपलब्ध सूचनाओं के असीमित भंडार से यूजर द्वारा सर्च की गई वस्तु की इंफॉर्मेशन को खोजने का कार्य करता है। सर्च इंजन अपनी खोज किसी खास keyword या phrase की सहायता से करता है। जब उपयोगकर्ता द्वारा search bar में कोई शब्द टाइप किया जाता है। तो उसे keyword कहा जाता है। इन्हीं keyword और key phrase के आधार पर सर्च इंजन यूजर के सामने वेब परिणामों की सूची प्रदर्शित करता है।
अगर हम एक उदाहरण ले तो जैसे आपको सर्च इंजन पर monitor क्या है सर्च करना है। जैसे ही आप search bar में मॉनिटर क्या है सर्च करोगे तब सर्च इंजन इंटरनेट पर जितने भी वेबसाइट है उनमें उस सवाल को सर्च करेगा और जहां-जहां यह सवाल मैच होगा उन वेबसाइट के नाम सर्च रिजल्ट के पहले पेज पर आपको दिखायेगा। इसके बाद किसी भी एक वेबसाइट या लिंक पर क्लिक करके आप मॉनिटर क्या है इसके बारे में जानकारी प्राप्त कर सकते हैं।

अगर हम आसान शब्दों में कहें तो कुल मिलाकर कहा जाए तो सर्च इंजन एक ऐसी service है जिसे हम इंटरनेट के माध्यम से access कर पाते हैं। जहां पर हमारे द्वारा सर्च की गई query से संबंधित अलग-अलग प्रकार की सूचना खोजी जाती है। और इन सूचनाओं में Text document, media file जैसे- video, image, audio आदि शामिल होते हैं। सर्च इंजन यूजर द्वारा खोजी गई जानकारी के आधार पर यूजर को सबसे बढ़िया और अच्छी जानकारी सबसे पहले दिखाता है। उसके बाद यह क्रम धीरे-धीरे चलता रहता है। अब आप भी सर्च इंजन के बारे में जान गए हैं यह क्या है। अब हम प्रमुख सर्च इंजन के बारे में जानेंगे की यह कितने प्रकार के होते है।

सर्च इंजन कितने प्रकार के होते है। -

इंटरनेट पर सर्च इंजन बहुत प्रकार के हैं और सभी सर्च इंजन की अपनी-अपनी खासियत होती है। लेकिन हम यहां पर आपको कुछ प्रमुख सर्च इंजन के बारे में बताएंगे। जिनका उपयोग सबसे ज्यादा किया जाता है।

(1) Google -
Google Search Engine दुनिया में सबसे ज्यादा उपयोग होने वाला web search है। गूगल की शुरुआत 1997 में अमेरिकन कंप्यूटर साइंटिस्ट कॉलेज  ओर कॉलेज के दो दोस्त Larry Page ओर Sergey Brin ने की थी। अगर हम किसी भी व्यक्ति से पूछेंगे कि एक सर्च इंजन का नाम बताएं जो सबसे ज्यादा उपयोग होता है। तो वह बिना देर किए गूगल का ही नाम लेगा। गूगल पर प्रति सेकंड करीब 62000 सर्च होती है। तो सोचो यहाँ पर पूरे साल में यह कितनी सर्च होती होगी। इसलिए यह दुनिया का बेस्ट सर्च इंजन है। गूगल का लोकप्रिय होने की वजह इसका इंफॉर्मेशन डाटाबेस है जहां पर कुछ भी सर्च करो तो उसका जवाब आपको तुरंत मिल जाएगा। आप अभी हमारी पोस्ट सर्च इंजन क्या है वह भी आप गूगल पर हमारी वेबसाइट www.pcwali.com पर ही पड़ रहे हैं।

(2) Bing -
Bing दूसरा लोकप्रिय सर्च इंजन है। जो गूगल के बाद सबसे ज्यादा उपयोग किया जाता है। बिन को माइक्रोसॉफ्ट द्वारा बनाया गया है। जिसकी शुरुआत 2009 में की गई थी। माइक्रोसॉफ्ट ने Bing को अपने पुराने सर्च इंजन Live Search ओर MSN Search से replace किया था।

(3) Yahoo -
Yahoo Search Engine दुनिया का तीसरा लोकप्रिय सर्च इंजन है। याहू को 1995 Launch किया गया था। यह एक Search Engine ओर Portal होने के साथ अन्य कई सर्विस की मुहैया कराता है। जिसमें yahoo mail प्रसिद्ध है।

(4) ASK.Com -
ASK.Com एक Question Answer वैबसाइट है। जहां पर यूजर अपने सवालों के जवाब ढूंढते हैं। ASK.Com की सबसे बड़ी खासियत यह है कि यहां पर आप अपने सवालों के जवाब Category के हिसाब से ढूंढ सकते हैं। यह लगभग 15 से 20 वर्ष पुराना सर्च इंजन है।

(5) AOL.Com -
AOL एक American web portal ओर Online Service Provider कंपनी है। भारत में इसका उपयोग इतना ज्यादा तो नहीं किया जाता है। परंतु फिर भी यहां इस search engine पर लाखो हिंदी वेबसाइट और ब्लॉग उपस्थित है। जो आपको हिंदी में जानकारियां उपलब्ध कराने का काम करती है। इसके अलावा भी अन्य सर्च इंजन है जैसे- Yandex.ru
Baidu
DuckDuckGo
Wolframalpha
Dogpile
Internet Archive  आदि।

भारत के सर्च इंजन के नाम -

जहां पर इतने सारे सर्च इंजन है वही पर भारत द्वारा अपने बनाये गए सर्च इंजन भी है। जो इतने लोकप्रिय तो नही है लेकिन फिर भी काफी हद तक अच्छा काम करते है।
(●) 123 Khoj
(●) Bhanvad
(●) Epic Search
(●) Guruji
(●) GISASS

सर्च इंजन कैसे अपना कार्य करता है।

अब तो आपको समझ आ गया होगा सर्च इंजन क्या है। अब हम यह समझते हैं आखिर यह कैसे कार्य करता है। सर्च इंजन की कार्यप्रणाली बहुत ही जटिल होती है। इसलिए एक सामान्य यूजर के लिए सर्च इंजन के काम करने का तरीका समझना आसान नहीं होता है। जब भी आपको keyword या key phrase serach bar में  लिखकर सर्च करते हैं तो यह हमें कैसे exact result दिखाता है। इस कार्य को सर्च इंजन द्वारा 3-step में किया जाता है जो Crawling, Indexing, Ranking & Retrieval  द्वारा होता है।

(1) Crawling -
Crawling एक खोज प्रक्रिया है जिसका मतलब ढूंढना होता है। जिसमें सर्च इंजन द्वारा किसी नई या पुरानी वेबसाइट को स्कैन किया जाता है। इस कार्य को करने के लिए crawler और spider का सहारा लिया जाता है। किसी भी वेबसाइट के content को उसकी link के द्वारा खोजने का काम spider ही करता है। इस spider या crawler का काम वेबसाइट को स्कैन करना और वेबसाइट के हर page की जानकारी इकट्ठा करना होता है। spider द्वारा किसी webpage के URL title, keyword, image को स्कैन कर इनकी सहायता से यह पता लगाने की कोशिश करता है कि webpage किस बारे में है। और अगर कभी उस page में कई दूसरे webpage के link मिल गए हो तो spider उस link की सहायता से अगले page पर पहुंचकर उसे स्कैन करना शुरू कर देता है। और इसी तरह यह लिंक के माध्यम से लाखों webpage को स्कैन करते रहते हैं। गूगल के मुताबिक 1 सेकेंड में करीब 100 से 1000 page को विजिट करता है।

(2) Indexing -
Indexing एक process है जहाँ पर एक crawl के दौरान जो भी डाटा मिलता है उसे place करना होता है। एक बार जब crawler किसी page को स्कैन कर लेते हैं तो Indexing अपनी प्रोसेस में crawl किए गए डेटा को डाटाबेस में सेव रहता है। इस Database में पर्याप्त server रखे होते हैं। जो crawl द्वारा स्कैन की जा रही वेबपेज की copies को स्टोर करते हैं। webpage के इस संग्रह को index कहा जाता है। यही वह डेटा है जो आपके द्वारा सर्च इंजन में खोजी गई जानकारी को रिजल्ट के रूप में प्रदर्शित करता है।

(3) Ranking and Retrieval -
यह सर्च इंजन का आखिरी स्टेप होता है। जो बहुत ही ज्यादा complex है। क्योंकि गूगल पर आप जो भी सर्च करते हो तो गूगल का यही काम होता है कि जो जानकारी आप ने सर्च की है वही आपको मिले। तभी सर्च इंजन पर लोगों का भरोसा होगा। इस स्टेप में सर्च इंजन हमारे द्वारा सर्च की गई क्यूरी की प्रोसेसिंग करता है। और ऐसे relevant page हमारे सामने रखता है जिसमें हमारे सवाल का जवाब मिल जाये। जो जानकारी आपके लिए सही है वही page आपको सबसे ऊपर दिखाइएगा। अब सवाल आता है कि गूगल को कैसे पता होता है कि पहले नंबर पर rank हुआ webpage वह दूसरे नंबर से बेहतर है। तो मैं आपको बता दूं इसके लिए Ranking Algorithem का सहारा लिया जाता है। प्रत्येक इंजन की एक अलग Ranking method होती है। सभी सर्च इंजन अपनी Algorithem को secret रखते हैं। ताकि कोई web creator उन Algorithem का गलत तरीके से इस्तेमाल करते हुए ऊपर न आये।

सर्च इंजन का इतिहास (History of Search Engine In Hindi)-

दुनिया में सबसे पहला सर्च इंजन एक स्कूल का प्रोजेक्ट था जिसको Alan Emtage द्वारा 1990 में बनाया गया था। वैसे इंटरनेट पर सभी सर्च इंजन का केवल एक ही काम होता है डाटा को सर्च करना और उसे डिस्प्ले करना। पहले सर्च इंजन कुछ और नहीं केवल एक file transfer protocol का collection था। उस समय जितने भी सर्वर एक दूसरे से कनेक्ट थे उनमें से केवल Data ढूंढना था। सर्च इंजन को बनाने का मुख्य कारण था कि उस समय web server ओर file को locate करना इतना आसान नहीं था।

Conclusion -

आज इस पोस्ट में हमने आपको Search Engine क्या है। तथा यह कैसे काम करता है। इसके बारे में आपको पूरी जानकारी दी है। में आशा करता हु की आप लोगो को Search Engine क्या है। इसके बारे में अच्छे से समझ आया होगा। अगर यदि आपको अभी भी इस पोस्ट को लेकर कुछ डाउट्स है हमारी पोस्ट से असन्तुष्ट है। या  हमारी इस पोस्ट में कुछ सुधार करने की जरूरत है या इस पोस्ट से जुड़ा कोई भी सवाल आपके मन मे है तो आप हमे नीचे comments करके जरूर बताये।

ओर यदि आपको हमारी पोस्ट Search Engine क्या है। हिंदी में अच्छी लगी हो ओर आपको इससे कुछ सीखने का मिला हो तो आप हमे comments करके जरूर बताए। ओर इस पोस्ट को अपने दोस्तों के साथ whatsapp group , facebook ओर अन्य social networks site's पर शेयर करे। और इस जानकारी को अन्य लोगो तक पहुचाने में हमारी मदद करे।

अभी के लिए बस इतना ही। हमारी इस पोस्ट को पढ़ने के लिए आपका धन्यवाद। आपका दिन शुभ हो।

No comments:

Post a Comment