हमारी new video देखे

Tuesday, 10 March 2020

Keyboard क्या है। और इसके प्रकार व उपयोग ।

हैलो दोस्तो तो कैसे हे, आप लोग। हमारे blog पर आपका स्वागत है। आज हम keyboard कर बारे में बात करेंगे। तो दोस्तों अगर आप एक कंप्यूटर यूजर है तो अपने कंप्यूटर और लेपटॉप में टाइपिंग के लिए keyboard का इस्तेमाल तो किया होगा। तब तो आप keyboard के बारे में अच्छे से जानते होंगे। अगर हम किसी छोटे 6-7 साल के बच्चे को पूछेंगे तो वह भी keyboard के बारे में थोड़ा बहुत तो बता ही देगा। लेकिन बहुत सारे लोगो को keyboard के बारे में सही जानकारी नही होती है। उन्हें keyboard के बारे में पता तो होता है लेकिन ज्यादा नही।
अगर आप किसी ऑफिस, स्कूल या किसी ऑनलाइन सेंटर पर जॉब करते हो तो आपको तो keyboard के बारे में अच्छे से जानकारी होगी। यह क्या है और इसका उपयोग कैसे ओर कहा किया जाता है। ये कितने प्रकार के होते है। वैसे में आपको बता दु की keyboard का उपयोग कंप्यूटर में typing ओर data entry करने के लिए किया जाता है।

अगर आपको भी keyboard के बारे में ज्यादा जानकारी नही है तो कोई बात नही आज हम इस पोस्ट में keyboard के बारे में आपको पूरी जानकारी देंगे। जिससे आपको भी पता चल जाएगा कि keyboard के क्या -क्या उपयोग है और ये कितने प्रकार के होते है। लेकिन इसके लिए आपको हमारी इस पोस्ट को शुरू से अंत तक पूरा पड़ना होगा तभी आप जान पाएंगे कि keyboard क्या है। तो चलिए अब बिना देर किए शुरू करते है। keyboard क्या है।

keyboard क्या है। (what is keyboard in hindi) -

keyboard kya hai

की-बोर्ड एक इनपुट डिवाइस है। कीबोर्ड का हिंदी में मतलब कुंजीपटल होता है। कीबोर्ड का मुख्य रूप से उपयोग text लिखने में data enter करने के लिए commands देने के लिए किया जाता है।  एक यूजर कंप्यूटर के साथ बातचीत करने के लिए input device की-बोर्ड या mouse का उपयोग करता है। इसके अलावा माउस की तरह भी की-बोर्ड का उपयोग किया जाता है। यह एक बहुक्रियात्मक उपकरण होता है जो लिख तो सकता है बल्कि कंप्यूटर को कंट्रोल भी कर सकता है।
की-बोर्ड को टाइपराइटर जैसी कीज के एक सेट के रूप में परिभाषित किया जा सकता है। जो आपको कंप्यूटर में इनपुट Data दर्ज करने के लिए सक्षम बनाता है। की-बोर्ड इलेक्ट्रिक टाइपराइटर के समान होते हैं। इनकी मदद से हम कंप्यूटर को इनपुट देते हैं की-बोर्ड कंप्यूटर का एक महत्वपूर्ण भाग होता है। जिसका उपयोग इनपुट देने के लिए किया जाता है।
 की-बोर्ड कंप्यूटर सिस्टम में cpu के पीछे USB ओर PS/2 के माध्यम से मदरबोर्ड से जुड़ा होता है। कंप्यूटर में उपयोग किया जाने वाला की-बोर्ड एक टाइपराइटर के समान दिखाई देता है। इस की-बोर्ड के दायीं ओर एक नंबर कीपैड की होती है जो दस कीज वाले कैलकुलेटर के समान होती है। इस नंबर कीपैड की 'कीज' सही ढंग से व्यवस्थित होती है। जो उपयोगकर्ता को तेजी से नंबर दर्ज करने में मदद करती है।

keyboard का फुल फॉर्म -

K- Keys
E- Electronic
Y- Yet
B- Board
O- Operating
A- A to Z
R- Response
D- Directly

Keyboard को कंप्यूटर के साथ कैसे connect किया जाता है। -

पहले कीबोर्ड को कंप्यूटर के साथ कनेक्ट करने के लिए PS/2 या सीरियल कनेक्टर का उपयोग किया जाता था। लेकिन जैसे-जैसे समय बदलता गया कीबोर्ड को भी कंप्यूटर के साथ कनेक्ट करने की तकनीक विकसित की गई। अब कीबोर्ड को कंप्यूटर के साथ कनेक्ट करने के लिए usb( यूनिवर्सल सीरियल बस) और वायरलेस कनेक्टर का इस्तेमाल किया जाता है इन्हें कनेक्ट करना बड़ा ही आसान है।

Keyboard की बनावट (Tyoes of keyboard Layouts in hindi) -

की-बोर्ड पर कुंजिओ की विशेष जमावट को ही कीबोर्ड लेआउट कहा जाता है। यह लेआउट ही कीबोर्ड की बनावट आकार तथा उसके प्रकार को निर्धारित करता है। आज के समय में कंप्यूटर के विभिन्न प्रकार के लेआउट उपलब्ध है। दुनिया के अलग-अलग देशों ने अपनी भाषा और लिपि के अनुसार कीबोर्ड लेआउट का निर्माण किया है।

(1) QWERTY Keyboard Layout -
आज कल के कंप्यूटर कीबोर्ड में ऐसी लेआउट का उपयोग किया जाता है। यह सबसे ज्यादा  प्रचलित ओर उपयोग किए जाने वाला keyborad layout है। Querty layout पर आधारित अन्य keyboard layouts
QWERTY, AZERTY, QWERTZ, QZERTY

(2) NON- QWERTY keyboard layout -
जिन कीबोर्ड में QWERTY LAYOUT को कुंजियों की जमावट के लिए उपयोग नही किया जाता है उन्हें NON-QWERTY keyboard layouts के कहा जाता है। जैसे- कुछ NON-QWERTY keyboard layout
Dvork, Colemak, Workman आदि।

Keyboard के प्रकार (Types of keyboard in hindi) -

आज बाजार में कई तरह के कीबोर्ड उपलब्ध है। इन सभी कीबोर्ड की अलग-अलग विशेषता होती है। हम नीचे कुछ कीबोर्ड के बारे में जानेंगे।

(1) मेम्ब्रेन कीबोर्ड (Membrane keyboard) -
यह एक ऐसा कीबोर्ड होता है। जिसमें कीज अलग नहीं होती है। यह एक पारदर्शी प्लास्टिक के आवरण से ढकी होती है। और इनमें बहुत कम गति होती है। इसलिए इन कीबोर्ड में जल्दी से टाइप करना मुश्किल होता है। यह कीबोर्ड सस्ते होते हैं।
(2) मैकेनिकल कीबोर्ड (Mechanical keyboard)-
 मैकेनिकल कीबोर्ड एक उच्च गुणवत्ता वाला कीबोर्ड होता है। मैकेनिकल कीबोर्ड में कीज(keys) के नीचे एक स्प्रिंग होता है। इस कीबोर्ड की कीज बहुत सॉफ्ट होती है। तथा जब हम इस कीबोर्ड पर टाइप करते हैं तो यह एक टाइपराइटर की तरह आवाज निकालता है। इस कीबोर्ड का उपयोग गेम खेलने वाले लोग ज्यादा करते हैं। यह बहुत आरामदायक होता है।
(3)गेमिंग कीबोर्ड -
gameing keyboard kya hai
इस कीबोर्ड को गेम खेलने वाले यूजर की आवश्यकता को ध्यान में रखकर बनाया गया है। ताकि उन्हें गेम खेलने में कोई प्रॉब्लम ना हो। इन कीबोर्ड में गेम को आसानी से खेलने के लिए कुछ स्पेशल कीज दी जाती है जैसे मल्टीमीडिया कीज (multimedia keys) ,बैकलिट कीज (backlit keys), एंटी घोस्ट कीज(Anti ghost keys), डब्ल्यू लॉक कीज (W. Lock keys) आदि। इन कीबोर्ड की डिजाइन बहुत आकर्षक होती है जो लोगों को अपनी ओर आकर्षित करती है।
(4) वायरलेस कीबोर्ड -
wireless keyboard kya hai
वायरलेस कीबोर्ड एक प्लग एंड-प्ले कीबोर्ड होता है। जो उपयोगकर्ता को तार की झंझट से राहत प्रदान करता है। इन कीबोर्ड में तार का उपयोग नहीं किया जाता है। यह रेडियो फ्रीक्वेंसी या ब्लूटूथ तकनीक की मदद से कंप्यूटर से संचार करता है। मार्केट में आजकल वायरलेस माउस की तरह ही वायरलेस कीबोर्ड का उपयोग किया जा रहा है। इसकी खासियत यह है कि आप कंप्यूटर से दूर बैठकर इस कीबोर्ड की सहायता से कंप्यूटर में इनपुट दे सकते है। वायरलेस कीबोर्ड बैटरी से संचालित होने वाला कीबोर्ड है। इसमें एक सिग्नल रिसीवर लगा होता है जो कंप्यूटर को कमांड भेजता है। यह कीबोर्ड छोटा तथा वजन में हल्का होता है। यह नॉर्मल कीबोर्ड से थोड़ा ज्यादा महंगा होता है।

(5) मल्टीमीडिया कीबोर्ड-

मल्टीमीडिया कीबोर्ड सबसे अधिक लोकप्रिय कीबोर्ड है। मल्टीमीडिया कीबोर्ड का उपयोग यूजर द्वारा आमतौर पर प्रोग्राम को लांच करने के लिए उपयोग किया जाने हेतु डिजाइन किया गया है। इस कीबोर्ड में ईमेल, मल्टीमीडिया प्लेयर, इंटरनेट ब्राउजर और सर्च प्रोग्राम खोलने की सुविधा होती है। संगीत को पसंद करने वाले लोग ज्यादातर इस कीबोर्ड का उपयोग करते हैं। क्योंकि यह मल्टीमीडिया को नियंत्रित करने का कार्य करता है। इस कीबोर्ड में सभी महत्वपूर्ण मल्टीमीडिया कीज होती है। जैसे प्ले, पॉप, नेक्स्ट, प्रीवियस, वॉल्यूम अप, वॉल्यूम डाउन, म्यूट आदि।

Keyboard के प्रकार (Types of keyboard in hindi) -

एक सामान्य कीबोर्ड में कुल 104 keys होती है। इनकी संख्या operating system ओर keyboard manufactures पर भी निर्भर होती है। कीबोर्ड में मौजूद प्रत्येक keys का अपना विशेष कार्य होता है। हम keys को उनके कार्य के आधार पर 6 श्रेणियों में बाँट सकते है।
Function keys, Typing keys, Control keys, Navigation keys, Indicator lights, Numeric key pad

(1) Function keys - फंक्शन की कीबोर्ड में सबसे ऊपर की साइट होती है इन्हें F1 से F2 तक लिखा जाता है। इनका उपयोग किसी विशेष कार्य को करने के लिए किया जाता है। इनका हर प्रोग्राम में अलग कार्य होता है।
(2) Typing keys -  कीबोर्ड में सबसे अधिक उपयोग इन keys का ही किया जाता है। टाइपिंग की में दोनों तरह की keys (alphabet ओर numbers) शामिल होती है। इन्हें सामूहिक रूप से अल्फान्यूमैरिक कीज कहा जाता है। टाइपिंग कीज में सभी तरह के symbols तथा punctuation marks होते है।
(3) Control keys -  control keys को अकेले या अन्य कीज के साथ कोई निश्चित कार्य करने में इस्तेमाल किया जाता है। एक सामान्य कीबोर्ड में अधिकतर ctrl key, windows key, Esc key, Alt key का उपयोग control key के रूप में किया जाता है। इसके अलावा scroll key, menu key, pause break key, prtscr key आदि control key में शामिल होती है।
(4) Navigation keys - Navigation keys में Arrow key, Home key, Insert, Page up, Page down, Delet आदि keys होती है। इनका उपयोग किसी Document webpage में इधर-उधर जाने में किया जाता है।
(5) Indicator Lights - कीबोर्ड में तीन तरह के Indicator light(संकेतक) होती है। Num Lock, Scroll Lock, ओर Caps Lock जब  कीबोर्ड में पहली लाइट जली होती है तो इसका मतलब है न्यूमेरिक कीपैड चालू है। और यह बंद है तो इसका मतलब है कि न्यूमेरिक कीपैड बंद है। दूसरी लाइट हमे latters के Uppercase और lowercase के बारे में संकेत करती है। जब यह बंद होती है तो लैटर्स लोअरकेस में होते है। और जब यह चालू होती है तो लेटर  अपरकेस में होते हैं। तीसरी कीज जिसे scroll lock के नाम से जाना जाता है यह हमें scrolling के बारे में संकेत करती है।
(6) Numeric keypad - इन्हें हम calculator key भी कहते हैं। क्योंकि एक न्यूमैरिक कीपैड में लगभग एक केलकुलेटर के समान ही कीज होती है। इनका उपयोग Numbers लिखने में किया जाता है।

कुछ मुख्य Typing keys ओर उनका उपयोग -

(1) Tab key - Tab का यूज़ एक साथ कई अक्षरों का स्पेस देने के लिए किया जाता है टैब का यूज़ कुछ कीबोर्ड शॉर्टकट में भी किया जाता है।
(2) Shift keys - Shift keys का उपयोग लेटर को uppercase में लिखने के लिए किया जाता है। इसका उपयोग किसी key के ऊपर वाले हिस्से को टाइप करने के लिए भी किया जाता है
(3) Spacebar - यह कीबोर्ड में सबसे बड़ी keys होती है इसका उपयोग cursor को एक स्पेस आगे खिसकाने के लिए किया जाता है।
(4) Caps lock key - इस key का उपयोग सभी लेटर को uppercase में लिखने के लिए किया जाता है। यह caps lock ऑन रहता है तो इसकी सभी लेटर्स uppercase में लिखे जाएंगे ।और ऑफ रहने पर lowercase में लिखे जाते हैं।
(5) Enter key - यह एक महत्वपूर्ण key होती है इसका यूज अगली लाइन शुरू करने के लिए किया जाता है। इसका उपयोग ok बटन का कार्य करने के लिए भी किया जाता है।
(6) Back space - Back space का उपयोग cursor के आगे के तथा सिलेक्ट किए हुए text को डिलीट करने के लिए किया जाता है।

कुछ मुख्य Control keys ओर उनका उपयोग -

(1) Esc key - इसका पूरा नाम Escape key होता है। इसका उपयोग वर्तमान में चालू किसी task को cancel करने के लिए किया जाता है।
(2) Ctrl key - इसका पूरा नाम control key है। इसका उपयोग कीबोर्ड शॉर्टकट में किया जाता है।
(3) Alt key -  इसका पूरा नाम Alter key है। इसका इस्तेमाल भी कीबोर्ड शॉर्टकट में किया जाता है।
(4) windows Logo key - इस key का उपयोग स्टार्ट मैन्यू को ओपन करने के लिए किया जाता है।
(5) Menu key - Menu key माउस के राइट क्लिक के समान ही कार्य करती है। यह किसी चुने हुए प्रोग्राम से संबंधित विकल्पों को open करती है।
(6) Prtscr key - इस key का उपयोग कंप्यूटर स्क्रीन की इमेज लेने के लिए किया जाता है।

Navigation keys के उपयोग -

(1) Arrow keys - Arrow keys चार प्रकार की होती है। Up Arrow, Down Arrow, Left Arrow, Right Arrow  इनका उपयोग कर्सर को Arrow की दिशा में सरकाने के लिए किया जाता है।
(2) Home keys - Home keys का use cursor को किसी दस्तावेज के शुरुआत में लाने के लिए किया जाता है। इसकी सहायता से webpage ओर document के एक दम शुरुआत में आ सकते है।
(3) End keys - End keys का use cursor को किसी दस्तावेज के आखिरी में लाने के लिए किया जाता है। इसकी सहायता से एक webpage ओर document के एक दम नीचे जा सकते है।
(4) Insert keys - इस key का उपयोग insert मोड को on तथा of करने के लिए किया जाता है।
(5) Delet key - इस key का उपयोग cursor के बाद के text, select किए हुए text, file, folder को delet करने के लिए किया जाता है।
(6) Page up key - इस key का उपयोग कर्सर एवं किसी page को ऊपर सरकाने के लिए किया जाता है।
(7) page Down key - page down key का उपयोग cursor ओर किसी page को नीचे सरकाने के लिए किया जाता है।

Numeric keypad का उपयोग -

Numeric keypad कीबोर्ड के दाएं तरफ होता है। इसमें 0 से 9 तक संख्याएं होती है। साथ ही गणितीय चिन्ह addition, sabtraction, division, multiplication, तथा decimal चिन्ह भी होते हैं।
 Numeric keypad का उपयोग संख्याएं लिखने के लिए किया जाता है। यह संख्या कीबोर्ड में दूसरी जगह होती है। लेकिन न्यूमैरिक कीपैड में इन्हें जल्दी लिख सकते हैं।इसके अलावा न्यूमैरिक कीपैड का उपयोग Navigation keys की तरह भी कर सकते हैं। न्यूमैरिक कीपैड को इस्तेमाल करने के लिए Num lock को on रहना चाहिए।

Numeric keypad में कितने keys होते है। -
ज्यादत्तर डेस्कटॉप कंप्यूटर में keyboards में एक numeric keypad होता है। हम सारे numbers ओर symbol को count करे तो उसमें 17 keys होते है। वही apple key board में 18 keys होते है।

Keyboard में कितने numbers key होते है। -
आमतौर पर एक keyboard में लगभग 10 नंबर keys होते है। 0 से लगभग 9 तक।

Keyboard में कितने alphabetic keys होते है। -
Keyboard में 26 alphabetic keys होते है।

Keyboards में कितने rows के keys मौजूद होते है। -
Keyboard में 6 rows of keys होते है। इनमे से तीन rows में alphabetic letters स्थित होते है।

Conclusion -

आज इस पोस्ट में हमने आपको keyboard क्या होता है। तथा इसका उपयोग कहा और कैसे होता है के बारे में आपको पूरी जानकारी दी है। में आशा करता हु की आप लोगो को keyboard क्या होता है। इसके बारे में अच्छे से समझ आया होगा। अगर यदि आपको अभी भी इस पोस्ट को लेकर कुछ डाउट्स है या हमारी इस पोस्ट में कुछ सुधार करने की जरूरत है या इस पोस्ट से जुड़ा कोई भी सवाल आपके मन मे है तो आप हमे नीचे comments करके जरूर बताये।

ओर यदि आपको हमारी पोस्ट keyboard क्या होता है हिंदी में अच्छी लगी हो ओर आपको इससे कुछ सीखने का मिला हो तो हमे comments करके आप जरूर बताए।ओर इस पोस्ट को अपने दोस्तों के साथ whatsapp group , facebook ओर अन्य social networks पर शेयर करे और इस जानकारी को अन्य लोगो तक पहुचाने में हमारी मदद करे।

अभी के लिए बस इतना ही। हमारी इस पोस्ट को पढ़ने के लिए आपका धन्यवाद। आपका दिन शुभ हो।
 

Show comments
Hide comments

1 comment: