हमारी new video देखे

Friday, 27 March 2020

SQL किसे कहते है। यह कैसे कार्य करता है।

हेलो दोस्तों तो कैसे हे, आप लोग। आज हम आपकों SQL के बारे में बताने वाले है। क्या आप SQL के बारे में जानते हैं। यह क्या है। इसका क्या कार्य है और यह कैसे कार्य करता है। अगर आपको SQL के बारे में पता है तो बहुत अच्छी बात है। अगर नहीं जानते हैं तो कोई बात नही। आज हम इस पोस्ट में आपको SQL के बारे में जानकारी देंगे।

आजकल हम इंटरनेट पर रोज कई सारी website का उपयोग करते हैं। या हमारे मोबाइल में भी कई सारे online apps को हम इंस्टॉल करते हैं। या फिर हम जो भी technical activity करते हैं वह कहीं ना कहीं रिकॉर्ड होती है। हम जो भी वेबसाइट बनाते हैं या उपयोग करते हैं। उसमें हमारे account बने होते हैं। और इन वेबसाइट की Details कहीं ना कहीं record होती है। मतलब हम एक उदाहरण ले तो अगर हम फेसबुक, इंस्टाग्राम पर कोई फोटो अपलोड करते हैं तो वह कहीं ना कहीं तो सेव होती होगी। अगर हम उस फोटो को सालों बाद इंस्टाग्राम या फेसबुक पर देखेंगे तो वह हमें वहां पर दिखाई देगी। अगर हम online shopping करते हैं या फिर ATM से पैसे निकालते हैं तो उसकी details भी सेव होती है। इसका भी पूरा collection रहता जो सेव होता है। तो अपने कभी सोचा है कि यह सब कहा सेव होता है। यह सब database में सेव होता है।
इसी तरह इंटरनेट की दुनिया में भी किसी वेबसाइट पर कितना traffic आ रहा है और ये कैसे तथा कहां से आ रहा है। यह सब जानकारी एक जगह इक्क्ठा होती है। जिसे हम डेटाबेस कहते हैं। अब आप यह समझ रहे होंगे कि हम तो SQL के बारे में जानकारी देने वाले थे। और अब आपको डेटाबेस के बारे में जानकारी दे रहे हैं। तो मैं आपको बता दूं कि इस डेटाबेस को बनाने के लिए जिस लैंग्वेज का इस्तेमाल किया जाता है उसी का नाम SQL है। SQL डेटाबेस से ही जुड़ा हुआ है। और इसी की सहायता से किसी भी डेटाबेस को मैंनेज किया जाता है। तो चलिए अब हम SQL के बारे में विस्तार से जान लेते हैं। यह क्या है और इसका उपयोग कैसे होता है।

SQL क्या है। (what is SQL in hindi) -

SQL kya hai in hindi
SQL का full from Structured Query Language है। जिस तरह से किसी वेबसाइट को बनाने के लिए html (Hyper Text Markup Language) का उपयोग किया जाता है। या Internet पर Data Transfer करने के लिए http (Hyper Text Transfer Protocol) का उपयोग किया जाता है। उसी  तरफ डेटाबेस बनाने के लिए SQL लैंग्वेज का उपयोग किया जाता है। यह एक प्रकार की कंप्यूटर भाषा है। जिससे डेटाबेस को command या instruction दिया जाता है। Data को स्टोर करना, अपडेट करना, क्रिएट करना, डिलीट करना हो तो इन सब के लिए भी अलग-अलग commands होते हैं। जिन्हें भी SQL कहा जाता है। और सारे RDBMS SQL को एक Standard database language तरह उपयोग करते हैं। इसलिए हम कर सकते हैं कि "SQL एक स्टैंडर्डाइज्ड प्रोग्रामिंग लैंग्वेज है। जिसका उपयोग रिलेशनल डेटाबेस को मैनेज करने और उनके डेटा में विभिन्न ऑपरेशन को करने के लिए किया जाता है। Relational Database System के लिए SQL एक स्टैंडर्ड लैंग्वेज है। MYSQL, Oracle, Informix, Sybase, MS Access, ओर SQL Server जैसे सभी रिलेशनल डेटाबेस मैनेजमेंट सिस्टम उनके स्टैंडर्ड डेटाबेस लैंग्वेज के रूप में SQL का इस्तेमाल करते हैं।
SQL kya hai in hindi
हम एक  उदाहरण ले तो अगर आप instagram, facebook, या twitter पर अपना अकाउंट बनाना चाहते हैं तो इसके लिए आपको रजिस्ट्रेशन फॉर्म भरना होता है। इस from को भरकर जब आप submit button पर क्लिक करते हैं तो from में आपके द्वारा भरी गई सारी इन्फॉर्मेशन , डेटा, instagra, facebook, twitter के डेटाबेस में सेव हो जाता है। लेकिन आपने कभी सोचा है यह सब कैसे होता है। तो मैं आपको बता दूं जब आप submit button पर click करते हैं तो back-end में SQL का एक command execute होता है। जो डेटाबेस को डेटा स्टोर करने का instruction देता है। मतलब रजिस्ट्रेशन फॉर्म ओर डेटाबेस के बीच जो बातचीत या कम्युनिकेशन होता है वह सब SQL की भाषा में होता है। SQL का उपयोग करके डेटा को फिर से क्वेरी, अपडेट, और ऑर्गेनाइज कर सकते हैं। एक डेटाबेस स्कीमा को बना और मॉडिफाई कर सकता है।ओर डेटा एक्सेस को control कर सकता है। तो अब आप समझ गए होंगे SQL किसे कहते है। अब हम इसके उपयोग के बारे में जानेंगे। इसका उपयोग कहा और कैसे होता है।

SQL के उपयोग (Use of SQL in hindi) -

SQL क्या है यह तो आप सब जान गए हैं। अब हम इसके उपयोग के बारे में पड़ेंगे।

(●) SQL की सहायता से एक नया Database create कर सकते हैं।

(●) SQL की सहायता से डेटाबेस में records update कर सकते हैं।

(●) SQL की सहायता से आप डाटाबेस के अंदर एक नया table create कर सकते हैं।

(●) SQL में पहले से मौजूद डाटा को हम अपडेट या मॉडिफाई कर सकते हैं।

(●) SQL की सहायता से हम डेटाबेस में records insert कर सकते हैं।

(●) SQL में हम Data को डिलीट भी कर सकते हैं।

(●) SQL से हम डेटाबेस डिलीट कर सकते हैं।

(●) SQL में हम टेबल को drop मतलब डिलीट भी कर सकते हैंं। 

(●) SQL की सहायता से हम views, stored procedures सकते हैं। और functions create कर सकते हैं।

(●) SQL की सहायता से हम Table, procedures और views के लिए permission सेट कर सकते हैं।
यानी हम कह सकते हैं कि DBMS मैनेजमेंट सिस्टम में सारे काम SQL के द्वारा किए जा सकते हैं।

Advantage of SQL in hindi -

SQL व्यापक रूप से लोकप्रिय है क्योंकि इसके बहुत फायदे हैं।
(●) SQL यूजर्स को RDBMS  (रिलेशनल डेटाबेस मैनेजमेंट सिस्टम) में डाटा को एक्सेस करने की अनुमति प्रदान करता है।

(●) यह लैंग्वेज डाटा को Manipulate करने की सुविधा प्रदान करता है।

(●) SQL में उपयोगकर्ता डेटा को Describe भी कर सकते हैं।

(●) SQL में यूजर डेटाबेस को डिफाइन कर सकते हैं। और उसमें बदलाव भी कर सकते हैं।

(●) SQL में कई तरह की DBMS Supporter होती है। जैसे- MYSQL, Oracle, MY SQL Server, ओर MS Access आदि।

(●) User प्रोसिजर स्टोर कर सकते हैं। व्यू को क्रिएट कर सकते हैं। और डेटाबेस में फंक्शन को भी क्रिएट कर सकते हैं।

(●) SQL मॉड्यूल प्री-कंपाइलर ओर लाइब्रेरीज का उपयोग करते हुए दूसरी भाषाओं में एम्बेड किया जा सकता है।

(●) SQL लैंग्वेज को कोई भी व्यक्ति आसानी से सीख सकता है।

Disadvantages of SQL in hindi -

जिस तरह से SQL में कई तरह के फायदे हैं उसी तरह इसमें कुछ नुकसान भी होते हैं।

(●) इस लैंग्वेज इंटरफेस बहुत ही कठिन होता है जिससे बहुत ही कम यूज़र्स इसे एक्सेस कर सकते हैं।

(●) SQL को क्रिएट करने में कठिनाई होती है क्योंकि इसके कुछ version की Cost बहुत ज्यादा होती है।

(●) SQL पूरी तरह से टेबल objects पर निर्भर रहता है।

SQL के महत्वपूर्ण मुख्य कमांड्स -

स्कूल के जो सबसे मुख्य कमांड होती है वह हम आपको यहां पर नीचे बता रहे हैं।
(●) Select-  यह डेटाबेस में डाटा को निकालता है। इसका उपयोग एक या एक से अधिक टेबल से डाटा को retrieve करने के लिए किया जाता हैं।

(●) Delet-  यह डाटा को डिलीट करता है।

(●) Update- यह डेटाबेस में डाटा को अपडेट करने का कार्य करता है।

(●) Insert into- इसकी सहायता से डेटाबेस में नया डाटा इंसर्ट किया जाता है।

(●)Create Database- इसकी सहायता से नया Database बनता है।

(●) Alter Database- यह डेटाबेस को मॉडिफाई करने का कार्य करता है।

(●) Drop index- इसकी सहायता से हम इंडेक्स डिलीट कर सकते है।

(●) Drop table- यह टेबल को डिलीट करता है।

(●) Create table- यह नई टेबल बनाता है।

(●) Alter table- यह टेबल को मॉडिफाई करता है।

SQL कैसे काम करता है।-

SQL अकेला किसी भी वेबसाइट में कुछ काम नहीं कर सकता है। इसके लिए कई सारी चीजों को एक साथ मिलकर काम करना पड़ता है। तो चलिए आप जानते हैं इसके लिए कौन-कौन सी चीजों की आवश्यकता होती है।

(●) DBMS Program(Data base Management syatem)- SQL के लिए सबसे पहले DBMS की आवश्यकता होती है। यह निम्न प्रकार के होते हैं। जैसे- MYSQL, SQL Server, Oracle, MS Access, Sqlite आदि।

(●) Server Side Scripting- SQL के कार्य करने के लिए दूसरी सबसे महत्वपूर्ण जरूरत होती है वह है Server Side Scripting । यह भी निम्न प्रकार के होते हैं जैसे- PHP, ASP आदि।

(●) SQL Commands

(●) HTML, CSS आदि।

SQL के कार्य करने के लिए आपके सर्वर में  MYSQL , SQL Server, Oracle जैसे - RDBMS Software installed होने चाहिए। फिर इसके बाद आपको PHP या ASP जैसी सर्वर साइड स्क्रिप्टिंग के जरिए प्रोग्रामिंग करके dynamic webpage बनाने होंगे। इसके बाद आप कौन से task perform करने हैं यहां पर कोडिंग करके बताना होगा। इन task के अनुसार आपको SQL Commands का उपयोग करना होता है। इन्हें ही query कहा जाता है। यहां पर आप जो भी कार्य करते हैं उन सब कार्यों के लिए अलग-अलग query होते हैं। जिनको आप PHP या ASP की प्रोग्रामिंग के अनुसार डिफाइन करते हैं। उसके बाद यूजर इंटरफेस के लिए आपको HTML और CCS के पेज भी बनाने पड़ेंगे। ताकि इन सारे tasks के आउटपुट आपको दिखाई दे सके।

SQL का इतिहास। (History of SQL in hindi) -

SQL की शुरुआत 1970 में हुई थी। जब IBM लेबोरेट्री नया डेटाबेस सॉफ्टवेयर बनाया गया था। जिसका नाम System R था। और इस Syatem R में डेटा को मैनेज करने के लिए Donold D. Chamberlin और Raymond F. Boyce द्वारा SQL लैंग्वेज या SQL का पहला version बनाया गया। जिसे पहले SEQUEL (Structured English Query Language) कहा जाता था।

1973 में इसका नाम बदलकर SQL ही कर दिया गया।। 1978 में SQL का सफलतापूर्वक परीक्षण करने के बाद IBM ने इससे जुड़े Commercial products बनाने शुरू किए।

1979 के आसपास लगभग Relational Software Inc नाम की कंपनी द्वारा RDBMS को लांच किया गया। इसके बाद इस कंपनी का नाम बदलकर Oracle रखा गया।
इसके बाद इसे Oracle कंपनी ने SQL के कर्मिशियल पोटेंशियल को देखा और Oracle v2  नाम का अपना मॉडिफाई version जारी किया।

अब वर्तमान में SQL ANSI और ISO द्वारा प्रमाणित एक डेटाबेस क्वेरी लैंग्वेज स्टैंडर्ड बन गया है। यह इंडस्ट्री लेवल ओर एजुकेशन आवश्यकताओं दोनो को सर्व करता है। और इसका इस्तेमाल पर्सनल कंप्यूटर और कॉर्पोरेट सर्वर दोनों पर किया जाता है। यह विभिन्न ओपन सोर्स SQL डेटाबेस सॉल्यूशन जैसे की  MYSQL, Postgre SQL, Firebird और कई अन्य की शुरुआत के कारण हुआ है।

Conclusion -

आज इस पोस्ट में हमने आपको SQL किसे कहते है। तथा यह कैसे कार्य करता है। इसके बारे में आपको पूरी जानकारी दी है। में आशा करता हु की आप लोगो को SQL किसे कहते है। इसके बारे में अच्छे से समझ आया होगा। अगर यदि आपको अभी भी इस पोस्ट को लेकर कुछ डाउट्स है या आप हमारी इस पोस्ट से असंतुष्ट है। या फिर हमारी इस पोस्ट में कुछ सुधार करने की जरूरत है या इस पोस्ट से जुड़ा कोई भी सवाल आपके मन मे है तो आप हमे नीचे comments करके जरूर बताये।

ओर यदि आपको हमारी पोस्ट SQL किसे कहते है। हिंदी में अच्छी लगी हो ओर आपको इससे कुछ सीखने का मिला हो तो हमे comments करके आप जरूर बताए।ओर इस पोस्ट को अपने दोस्तों के साथ whatsapp group , facebook ओर अन्य social networks पर शेयर करे और इस जानकारी को अन्य लोगो तक पहुचाने में हमारी मदद करे।

अभी के लिए बस इतना ही। हमारी इस पोस्ट को पढ़ने के लिए आपका धन्यवाद। आपका दिन शुभ हो।


No comments:

Post a Comment